क्या ईवीएम मशीन की जगह बैलेट पेपर से होंगे चुनाव?

मनीषा शर्मा। लोकसभा चुनाव 2024 (Lok sabha election 2024) को लेकर सभी पार्टियों जबरदस्त टक्कर के लिए तैयार हैं। लेकिन ऐसी बीच ईवीएम वर्सेस बैलट पेपर (EVM vs Ballot Paper) का भूत एक बार फिर बोतल से निकल आया है। राजगढ़ लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) भी ईवीएम मशीन का विरोध करते हुए बैलट पेपर से चुनाव कराने की मांग कर रहे हैं।

दिग्गी राजा ने जताया ईवीएम मशीन पर विरोध
जहां भारतीय जनता पार्टी मिशन 400 में जुटी है। वही मध्य प्रदेश की राजगढ़ लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी मिशन 400 पर जुट गए हैं। वह लगातार ईवीएम मशीन के उपयोग पर सवाल उठाते हुए इसका तोड़ निकालने में भी जुटे हुए हैं।
दिग्गी राजा के नाम से मशहूर दिग्विजय सिंह का कहना है कि नियम अनुसार यदि 384 उम्मीदवार एक सीट पर हों तो फिर चुनाव वैलेट पेपर से होता है। उनका कहना है कि यह प्रक्रिया पहले आसान थी। बीजेपी ने इस जटिल बना दिया। पहले तो महज़ 64 प्रत्याशी होने पर ही बैलट पेपर से चुनाव हो जाता था।

दिग्विजय की जिद पर शिवराज का पलटवार
अब जब दिग्विजय सिंह बैलट पेपर से चुनाव करवाने के लिए पूरी ताकत लगा रहे हैं। तो उनके इन हथकंडों पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी कारा तंज किया है। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दिग्विजय सिंह चुनाव हार रहे हैं। इसीलिए वह ईवीएम मशीन पर ऐसे ऊलजुलूल सवाल उठा रहे हैं।

ईवीएम के विरोध पर दिग्विजय को मिल रहा है कांग्रेसी नेताओं का समर्थन
दिग्विजय सिंह ने कहा कि 384 उम्मीदवार एक सीट पर हों तो चुनाव वैलेट पेपर से हो सकता है। इसीलिए उनकी एक अपील पर उनके समर्थक ही नहीं बल्कि भोपाल के कांग्रेस प्रवक्ता भी राजगढ़ से नामांकन दाखिल करने को तैयार है।

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ने मांगा दिग्विजय सिंह से हिसाब
ईवीएम मशीन वर्सिज बैलट पेपर के मामले पर पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ओमप्रकाश रावत का भी बयान सामने आया है। उनका कहना है कि यदि वैलेट पेपर से चुनाव होते हैं, तो चुनाव प्रक्रिया काफी लंबी हो जाएगी। यदि दिग्विजय सिंह 400 लोगों के नामांकन दाखिल करवाते हैं तो फिर उन्हें इसके खर्च का भी जवाब देना होगा।

हॉट सीट बनी हुई है राजगढ़ लोकसभा सीट
राजगढ़ लोकसभा सीट इस वक्त हॉट सीट बनी हुई है। यहां मुकाबला कांटे की टक्कर का नजर आ रहा है। दिग्विजय सिंह लगातार भाजपा के लिए चुनौती बने हुए हैं। फिलहाल चुनाव जीतने के लिए दिग्गी राजा मिशन 400 में जुटे हुए हैं।

Spread the love