कौन है कश्मीरी युवक नाजिम

श्रीनगर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी धारा 370 हटने के बाद से पहली बार जम्मू-कश्मीर के दौरा पर गए। यहां प्रधानमंत्री का जबरदस्त स्वागत किया गया। इसके साथ ही उन्होंने यहां सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों से बातचीत भी की। इस दौरान पुलवामा के एक युवक नाजिम ने पीएम मोदी से सेल्फी की डिमांड कर दी। पीएम ने युवक को निराश नहीं किया। उन्होंने नाजिम के साथ सेल्फी खिंचाई और उसे सपने सोशल मीडिया एकाउंट पर पोस्ट भी कर दिया। अब हर जगह नाजिम की चर्चा हो रही हैं। आइए हम आपको बताते हैं कि ये नाजिम कौन है, जिसकी पीएम मोदी ने इच्छा पूरी की।

दरअसल नाजिम नजीर कश्मीर के पुलवामा के रहने वाले हैं। वह मधुमक्खी पालन करते हैं। पीएम मोदी से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि आज कश्मीरी शहद की कीमत एक हजार रुपए किलो तक पहुंच गई है। नाजिम के घर वाले चाहते थे कि वह डॉक्टर या इंजीनियर बनें लेकिन उन्होंने मधुमक्खी पालन शुरू किया। नाजिम ने मधुमक्खी पालन की शुरुआत केवल दो बॉक्स से की थी और आज वह 200 बॉक्स में कर रहे हैं।

नाजिम ने पीएम से बातचीत के दौरान बताया कि शुरुआत में वह बोतल में भरकर शहद बेचा करते थे, लेकिन आज वह वेबसाइट की मदद से भी शहद बेच रहे हैं। वह बताते हैं कि कश्मीर के शहद की बहुत डिमांड है। आज उसकी कीमत 1000 रुपए किलो तक पहुंच गई है। इसके बाद वह पीएम से उनके साथ सेल्फी लेने की डिमांड करते हैं, जिसपर प्रधानमंत्री कहते हैं कि एसपीजी के लोगों से बोलता हूं बाद में आपको मेरे पास लाने के लिए। कार्यक्रम की समाप्ति के बाद SPG के जवान नाजिम को पीएम के पास ले जाते हैं और वह नाजिम पीएम के साथ सेल्फी लेते हैं।

नाजिम कश्मीर के अनंतनाग जिले के रहने वाले एक युवक हैं। वो एक उद्यमी हैं और उन्होंने “कश्मीर क्रांति” नामक एक कंपनी की स्थापना की है। यह कंपनी कश्मीरी सेब और अन्य स्थानीय उत्पादों को ऑनलाइन बेचने का काम करती है।

नाज़िम ने अपनी कंपनी की शुरुआत 2020 में की थी। उनका लक्ष्य कश्मीरी किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाना और कश्मीरी उत्पादों को दुनिया भर में लोकप्रिय बनाना है। हाल ही में, नाजिम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जम्मू-कश्मीर यात्रा के दौरान सुर्खियों में आए थे। पीएम मोदी ने नाजिम से मुलाकात की और उनकी कंपनी के काम की सराहना की।

नाज़िम के बारे में कुछ प्रमुख बातें:

  • उनका पूरा नाम नाजिम नज़ीर है।
  • वो 24 साल के हैं।
  • वो अनंतनाग जिले के पुलवामा इलाके के रहने वाले हैं।
  • उन्होंने श्रीनगर के श्रीनगर इंजीनियरिंग कॉलेज से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बीटेक किया है।
  • उन्होंने अपनी कंपनी “कश्मीर क्रांति” की शुरुआत 2020 में की थी।
  • उनकी कंपनी कश्मीरी सेब और अन्य स्थानीय उत्पादों को ऑनलाइन बेचने का काम करती है।
  • उनकी कंपनी का लक्ष्य कश्मीरी किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाना और कश्मीरी उत्पादों को दुनिया भर में लोकप्रिय बनाना है।

नाज़िम की उपलब्धियां:

  • उन्हें 2022 में “फोर्ब्स 30 अंडर 30” सूची में शामिल किया गया था।
  • उन्हें 2023 में “एनडीटीवी इंडियन ऑफ द ईयर” पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • उन्हें 2024 में “कश्मीर क्रांति” के लिए “सीएनएन-आईबीएन इंडियन ऑफ द ईयर” पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

नाज़िम कश्मीर के युवाओं के लिए एक प्रेरणा हैं। उन्होंने दिखाया है कि कड़ी मेहनत और लगन से कुछ भी हासिल किया जा सकता है।

Spread the love