अजमेर में होली पर नहीं होगी पानी की कमी

अजमेर, 16 मार्च। विधानसभा अध्यक्ष वासुदेव देवनानी ( Vasudev Devnani ) के निर्देशों के बाद जलदाय विभाग ने शहर की जलापूर्ति व्यवस्था को सुधारने की कवायद शुरू कर दी है. इसके तहत कई अहम निर्णय लिए गए हैं. जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अतिरिक्त मुख्य अभियंता देवराज सौलंकी की अध्यक्षता में शनिवार को शहर की पेयजल सप्लाई व पेयजल से संबंधित अन्य समस्याओं के बारे में प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में मीडिया प्रतिनिधियों से शहर की पेयजल सप्लाई के बारे में विस्तार से चर्चा की और अपने सुझाव प्रस्तुत किए।

जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अतिरिक्त मुख्य अभियंता देवराज सौलंकी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि अजमेर ( Ajmer )में अजमेर शहर में वर्तमान में 1300 लाख लीटर पानी प्रतिदिन की मांग है। बीसलपुर सिस्टम से एस.आर 7 पर 1300 लाख लीटर पानी प्रतिदिन आता है। आगामी ग्रीष्म ऋतु में पेयजल व्यवस्था को सुचारू से व्यस्थित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि अधिकांश घरेलु उपभोक्ताओ, व्यावसायिक प्रतिष्ठानो जैसे होटलो में अन्डर ग्राउण्ड टैंक बने हुये है और पीवीसी के अथवा सीमेन्ट के ऑवर हैड टंकिया लगा रखी है। सप्लाई समय में इन टंकियो से पानी ओवरफ्लो होकर नालियों में बह जाता है। होली के बाद अभियान चलाकर ऎसे उपभोक्ताओ को चिन्हित किया जाएगा तथा नोटिस भी दिया जाएगा कि टैंक अथवा टंकियो पर फ्लोट वॉल्व लगाया जाना सुनिश्चित करें। नोटिस के बाद भी फ्लोट वॉल्व नहीं लगाने वाले उपभोक्ताओ के नल कनेक्शन काटे जाएगें और सरकारी पानी को व्यर्थ बहाने के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओ की सुविधा के लिये शीघ्र ही उनके सप्लाई जोन के सर्विस रिजर्वायर के लेवल की सूचना अब मोबाइल एप पर उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए स्मार्ट सिटी योजना में लगे स्काडा सिस्टम को जयपुर के जलधारा कमाण्ड सेंटर सें जोड़ने की कार्यवाही का जा रही है। बिलिंग एजेन्सी के माध्यम से सभी उपभोक्ताओ के मोबाइल नंबर लेकर उपभोक्ता के यूनिक (सी.आई.एन.) के साथ इंटीग्रेट किया जाएगा तथा सप्लाई समय की जानकारी एस.एम.एस के माध्यम से उपभोक्ता को दी जाएगी।

सप्लाई जोन का चिन्हिकरण करने के बाद 25 मार्च को धूलंडी के दिन चिन्हित जोन में दोपहर 1 बजे से 3 बजे तक 15 से 20 मिनट तक अतिरिक्त सप्लाई दी जाएगी। अवैध बूस्टर एवं अवैध जल कनेक्शन के खिलाफ जीरो टोलरेंस की नीति अपनाते हुए सख्त कार्यवाही की जाएगी।

उन्होंने आमजन से अपील करते हुए कहा कि पाईपलाईन में यदि लीकेज है तो इसकी सूचना विभाग के कन्ट्रोल रूम में देंगे। विभाग के अधिकारियो को भी निर्देशित किया गया है कि लीकेज की सूचना प्राप्त होते ही उस पर तुरन्त कार्यवाही करेंगें। इस अवसर पर विभिन्न मीडिया प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Spread the love