latest-newsकोटाटोंकराजस्थान

टोंक और कोटा में भारी बारिश से बाढ़ के हालात, कई मकान गिरे

टोंक और कोटा में भारी बारिश से बाढ़ के हालात, कई मकान गिरे

मनीषा शर्मा । राजस्थान में मानसून की तेज गतिविधियों के चलते कई जिलों में हालात बिगड़ गए हैं। टोंक और कोटा में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात उत्पन्न हो गए हैं। कोटा में पिछले दो दिनों से लगातार बारिश हो रही है, जिससे पार्वती नदी उफान पर आ गई है। इसके चलते श्योपुर और ग्वालियर (मध्य प्रदेश) मार्ग बंद हो गया है।

टोंक जिले के हमीरपुर में शुक्रवार शाम सहोदरा डैम पर चल रही चादर के कारण एक ट्रक पलट गया। हालांकि, ट्रक ड्राइवर और एक अन्य व्यक्ति को सुरक्षित बचा लिया गया है। तेज बारिश के कारण टोंक में आज सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया है। बीसलपुर बांध का जलस्तर पिछले 24 घंटे में 43 सेमी बढ़कर 310.09 आरएल मीटर हो गया है।

जोधपुर में भी शुक्रवार शाम को तेज बारिश से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। सरदारपुरा इलाके में एक मकान भी गिर गया। मौसम विज्ञान केंद्र जयपुर ने अगले कुछ दिनों में राज्य के 6 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। कुल 19 जिलों में बारिश की संभावना है और यह स्थिति 7 जुलाई तक बनी रह सकती है।

मालपुरा (टोंक) के हालोलाव बांध भी शुक्रवार शाम को ओवरफ्लो हो गया है, जिससे कलमंडा गांव दो भागों में बंट गया है। पानी मुख्य स्टैंड से होकर बह रहा है, जिससे कुछ घरों और स्कूल में पानी भर गया है। SDRF और पुलिस-प्रशासन की टीम ने रात को करीब दस बजे पहुंचकर लोगों को सुरक्षित निकाला। भारी बारिश के कारण कई कच्चे मकान ढह गए हैं और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है।

राजस्थान में मानसून की भारी बारिश के चलते हालात गंभीर बने हुए हैं। प्रशासन लगातार स्थिति पर नजर बनाए हुए है और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए प्रयासरत है।

post bottom ad