राजस्थान की पांच सबसे रहस्यमयी जगह

राजस्थान को राजाओं की जगह कहा जाता है यहां की संस्कृति में जितने राजसी ठाठ बाट देखने को मिलते हैं वही कई जगहों का रहस्य मन में कई प्रकार की जिज्ञासाएं पैदा करता है। आज हम बात करने वाले हैं राजस्थान के पांच सबसे रहस्यमई जगह के बारे में जहां पर इतिहास के साथ-साथ डर भी अपने पैर पसारे हुए हैं।

भानगढ़ का किला
राजस्थान के अलवर में भानगढ़ का किला राजस्थान के सबसे रहस्यमयी जगह होने के साथ-साथ वीरान और डरावनी जगह में से एक है। हालांकि आज के समय में यहां पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है पर फिर भी राजस्थान पर्यटक ने इस जगह पर सूर्यास्त के बाद किसी का भी रुकना निषेध किया हुआ है। यहां पर आने वाले लोगों से बात की जाए तो उनका कहना है कि इसके लिए मैं उन्हें कई अजीब घटनाओं के होने का आभास हुआ है साथ ही यहां पर रोने की चखने की और चूड़ियों के खानकने की आवाज़ें भी सुनाई देती है।

कुलधरा गांव
राजस्थान के जैसलमेर से 14 किलोमीटर दूर स्थित कुलधरा गांव स्थित है जो लगभग 170 साल से वीरान है कहा जाता है हालांकि अब यहां पर राजस्थान पर रिटर्न द्वारा पर्यटकों का आना-जाना प्रारंभ हो चुका है लेकिन यहां पर कोई भी अकेले नहीं जा सकता साथ ही सूर्य से पहले गांव को खाली करने के आदेश है। ऐसा कहा जाता है कि यह गांव पालीवाल समाज के लोगों के द्वारा बसाया गया था और उन्होंने एक दीवान से अपनी बेटियों को बचाने के लिए रातों रात इस गांव को खाली कर दिया उसके बाद यहां के लोग कहां गए इसकी जानकारी आज तक किसी को नहीं है।

राणा कुंभा का महल
राजस्थान के चित्तौड़ में स्थित राणा कुंभा का महल जिसे चित्तौड़ का किला भी कहा जाता है राजस्थान की सबसे डरावनी जगह में से एक है। ऐतिहासिक दृष्टि से देखा जाए तो रानी पद्मिनी और अन्य वीरांगनाओं ने अलाउद्दीन खिलजी से अपनी सत्ता की रक्षा के लिए इसी महल में जौहर किया था । जहां यह महल राजस्थानी संस्कृति का वीर तत्व प्रदर्शित करता है वही लोगों की मां ने तो आज भी इस महल में गुप्त कक्षा है और यहां महिलाओं के चीखने चिल्लाने और रोने की आवाज है सुनाई देती है।

नाहरगढ़ का किला
राजस्थान की राजधानी जयपुर में अरावली की पहाड़ियों की गोद में स्थित नाहरगढ़ का किला भी राजस्थान के रहस्यमयी में स्थानों में से एक है। पीले पत्थरों से बना यह किला देखने में जितना आकर्षक है उतना ही भयावह भी है. यहां के बारे में कई सारी कहानियां प्रसिद्ध है ऐसा कहा जाता है कि यह अकेला सवाई मानसिंह ने अपनी बेटियों के लिए बनवाया था और राजा की मौत के बाद राजा की आत्मा इस किले में भटक रही है।

अजमेर -उदयपुर हाईवे
अजमेर उदयपुर हाईवे को खूनी रास्ता भी कहा जाता है यहां पर कई लोगों ने असामान्य और भूतिया घटनाओं को महसूस किया है कई लोगों का कहना है इस रास्ते पर एक औरत लाल दुल्हन के जोड़े में नजर आती है। साथी इससे जुड़ी एक पुरानी कहानी यह है कि जब बाल विवाह प्रचलन में था 5 साल के एक लड़के की शादी 3 साल की एक लड़की से कराई जा रही थी लड़की की मां इस विवाह के खिलाफ थी और इसीलिए वह अपनी बेटी के साथ मदद के लिए सड़क की तरफ दौड़ी और तभी गाड़ी से टकराने के कारण मां और बेटी दोनों की मौत हो गई और तभी से यह रास्ता भूतिया हो गया है।

Spread the love