फिक्की-ईवाई रिपोर्ट: 2024 में डिजिटल मीडिया टीवी को पीछे छोड़ देगा

नई दिल्ली: उद्योग मंडल फिक्की और ईवाई की मंगलवार को जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, डिजिटल मीडिया 2024 में 75,100 करोड़ रुपये की अनुमानित कमाई के साथ टेलीविजन को पीछे छोड़ देगा। हाँ, डिजिटल मीडिया जल्द ही टीवी को कमाई में पीछे छोड़ देगा।

रिपोर्ट के मुख्य बिंदु:

  • वर्ष 2023 में टीवी 69,600 करोड़ रुपये की कमाई के साथ सबसे बड़ा सेगमेंट रहा, लेकिन 2022 में 70,900 करोड़ रुपये के मुकाबले इसमें 1.83 प्रतिशत की गिरावट आई।
  • वर्ष 2023 में डिजिटल मीडिया 65,400 करोड़ रुपये को पार कर गया और 2024 में लगभग 75,100 करोड़ रुपये पहुंच जाने की उम्मीद है।
  • वर्ष 2026 में डिजिटल मीडिया लगभग 95,500 करोड़ रुपये का होगा। इसमें 2023-26 के बीच 13.5 प्रतिशत की वृद्धि होने का अनुमान है।
  • वहीं, टीवी मीडिया 76,600 करोड़ रुपये का होगा। यह डिजिटल मीडिया से करीब 20 प्रतिशत से कम होगा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि डिजिटल मीडिया में वृद्धि के मुख्य कारण हैं:

  • इंटरनेट और स्मार्टफोन उपयोगकर्ताओं की बढ़ती संख्या
  • कनेक्टेड टीवी में वृद्धि
  • डिजिटल विज्ञापनों में वृद्धि

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि डिजिटल मीडिया भविष्य का मीडिया है और यह टीवी को पीछे छोड़ देगा।

इस रिपोर्ट पर टिप्पणी करते हुए फिक्की मीडिया एवं मनोरंजन समितिके अध्यक्ष प्रणय रॉय ने कहा, “यह रिपोर्ट डिजिटल मीडिया के बढ़ते प्रभाव को दर्शाती है। यह स्पष्ट है कि डिजिटल मीडिया भविष्य का मीडिया है और यह टीवी को पीछे छोड़ देगा।”

ईवाई मीडिया एवं मनोरंजन नेता रितेश सिंघल ने कहा, “डिजिटल मीडिया में तेजी से वृद्धि हो रही है। यह वृद्धि इंटरनेट और स्मार्टफोन उपयोगकर्ताओं की बढ़ती संख्या, कनेक्टेड टीवी में वृद्धि और डिजिटल विज्ञापनों में वृद्धि के कारण है।”

यहाँ कुछ सबूत हैं:

  • फिक्की-ईवाई की रिपोर्ट: मंगलवार 5 मार्च 2024 को जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, 2024 में डिजिटल मीडिया 75,100 करोड़ रुपये की अनुमानित कमाई के साथ टेलीविजन को पीछे छोड़ सकता है।
  • बढ़ता इंटरनेट उपयोग: भारत में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या लगातार बढ़ रही है। 2023 में, भारत में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या 830 मिलियन थी, जो 2022 में 749 मिलियन थी।
  • कनेक्टेड टीवी में वृद्धि: रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इंटरनेट की पहुंच बढ़ने से कनेक्टेड टीवी (स्मार्ट टीवी) में 50% की वृद्धि हुई है।
  • डिजिटल विज्ञापनों में वृद्धि: डिजिटल विज्ञापनों में भी वृद्धि हो रही है। 2024 में, डिजिटल विज्ञापन 84,200 करोड़ रुपये तक पहुंचने का अनुमान है।

यह सब दर्शाता है कि डिजिटल मीडिया तेजी से लोकप्रिय हो रहा है और जल्द ही टीवी को पीछे छोड़ देगा।

यहाँ कुछ कारण हैं:

  • सुविधा: डिजिटल मीडिया उपयोगकर्ताओं को अपनी पसंद के अनुसार सामग्री देखने की सुविधा देता है।
  • वैयक्तिकरण: डिजिटल मीडिया उपयोगकर्ताओं को उनकी रुचि के अनुसार सामग्री देखने की सुविधा देता है।
  • कम लागत: डिजिटल मीडिया टीवी की तुलना में कम लागत वाला है।
  • विविधता: डिजिटल मीडिया टीवी की तुलना में अधिक विविधता प्रदान करता है।

यह निश्चित है कि डिजिटल मीडिया भविष्य का मीडिया है।

Spread the love