latest-newsअजमेरराजस्थान

अजमेर में विद्युत अनियमितताओं पर देवनानी ने जताई नाराजगी, सुधार के निर्देश

अजमेर में विद्युत अनियमितताओं पर  देवनानी ने जताई नाराजगी, सुधार के निर्देश

शोभना शर्मा ,अजमेर।  शहर में विद्युत अनियमितताओं पर विधानसभा अध्यक्ष  वासुदेव देवनानी ने कड़ी नाराजगी जताई है। उन्होंने टाटा पावर के अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि सात दिन में हालात नहीं सुधरे तो राज्य सरकार फ्रेंचाइजी एम.ओ.यू. पर पुनर्विचार करेगी। देवनानी ने जिला कलक्टर डॉ. भारती दीक्षित और अजमेर डिस्कॉम को भी सख्त एक्शन लेने के निर्देश दिए। डिस्कॉम ने टाटा पावर को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

गुरुवार को शहरवासियों ने बिजली समस्याओं को लेकर  देवनानी से मुलाकात की। इस पर उन्होंने टाटा पावर के अधिकारियों से नाराजगी जताई और कहा कि टाटा पावर की कार्यशैली और अव्यवस्थाओं से लोग परेशान हैं। बिजली कटौती और अन्य समस्याओं के समाधान के लिए टाटा पावर को एक सप्ताह का समय दिया गया है।  देवनानी ने निर्देश दिए कि टाटा पावर अपनी कार्यशैली में सुधार करे, समस्या समाधान में तत्परता दिखाए और जनता के प्रति जवाबदेही सुनिश्चित करे। उन्होंने जिला कलक्टर और अजमेर डिस्कॉम के चीफ इंजीनियर मुकेश बाल्दी को टाटा पावर की लापरवाही के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

अजमेर डिस्कॉम ने टाटा पावर को नोटिस जारी कर जानकारी मांगी है कि वर्तमान में विद्युत क्षेत्र में कितनी मैन पावर टीम कार्यरत है और उनके द्वारा मेंटिनेंस के लिए क्या कार्य किए जा रहे हैं। साथ ही, टी.पी.ए.डी.एल. के अधीनस्थ अधिकारियों और कर्मचारियों की शैक्षणिक योग्यता और अनुभव की जानकारी भी मांगी गई है। टाटा पावर से आपदा और आपातकालीन परिस्थितियों में कितनी टीमें कार्यरत हैं और विद्युत भार वृद्धि के मद्देनजर कितने अपग्रेडेशन और सुधार किए गए हैं, इसकी भी जानकारी मांगी गई है। साथ ही, पिछले तीन वर्षों में विद्युत संबंधी कितने परिवाद प्राप्त हुए और कितने कर्मचारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की गई है, यह भी पूछा गया है।

यदि टाटा पावर ने इन निर्देशों का पालन नहीं किया तो राज्य सरकार फ्रेंचाइजी एम.ओ.यू. पर पुनर्विचार करेगी और टाटा पावर के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएंगे।

post bottom ad