latest-newsजयपुरराजनीतिराजस्थान

राजस्थान विधानसभा में भजनलाल सरकार को घेरेंगे बीजेपी विधायक: ध्यानाकर्षण प्रस्तावों की बाढ़

राजस्थान विधानसभा में भजनलाल सरकार को घेरेंगे बीजेपी विधायक: ध्यानाकर्षण प्रस्तावों की बाढ़

मनीषा शर्मा । राजस्थान विधानसभा में इस बार चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। बजट सत्र में भजनलाल सरकार से जवाब मांगने में कांग्रेस से अधिक सक्रियता बीजेपी विधायकों ने दिखाई है। नियम 131 के तहत कुल 148 ध्यानाकर्षण प्रस्ताव लगाए गए हैं, जिनमें से 80 प्रस्ताव केवल बीजेपी विधायकों द्वारा लगाए गए हैं।

बीजेपी के पांच विधायकों ने ही 60 ध्यानाकर्षण प्रस्ताव लगाए हैं। इसके अलावा, 2314 सवाल भी सदन में लगाए गए हैं। इन सभी सवालों का जवाब पाने के लिए अधिकतम बैठकें आवश्यक हैं, लेकिन विधानसभा की कार्य सलाहकार समिति ने बजट सत्र की बैठकें कम करने का निर्णय लिया है। समिति ने सदन की कार्रवाई 10 जुलाई को बजट तक केवल 2 दिन चलाने का फैसला किया है, जिससे महत्वपूर्ण मुद्दे छूट सकते हैं।

विधानसभा बैठकें और छुट्टियां:

बजट सत्र बुधवार को शुरू हुआ, लेकिन केवल 2 दिन की बैठक रखकर सीधे 6 दिन की छुट्टी कर दी गई है। अब 4 जुलाई के बाद, सीधा 10 जुलाई को बजट पेश किया जाएगा। इस प्रकार के आयोजन से महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा का समय कम हो गया है।

ध्यानाकर्षण प्रस्तावों की सूची:

बीजेपी विधायकों द्वारा उठाए गए ध्यानाकर्षण प्रस्तावों में कई महत्वपूर्ण मुद्दे शामिल हैं:

  1. रामबाग गोल्फ क्लब में भ्रष्टाचार: मालवीय नगर विधायक कालीचरण सराफ ने रामबाग गोल्फ क्लब के संचालन में कथित भ्रष्टाचार के संबंध में ध्यानाकर्षण प्रस्ताव लगाया है। उन्होंने नगरीय विकास एवं आवासन विभाग से जवाब मांगा है।
  2. चिरंजीवी और आरोग्य योजना: सादुलपुर विधायक मनोज कुमार न्यांगली ने स्वास्थ्य मंत्री से पूछा है कि मुख्यमंत्री आयुष्मान आरोग्य योजना के लाभार्थियों को अन्य राज्यों में आयुष्मान भारत योजना का लाभ क्यों नहीं मिल रहा है।
  3. फार्मासिस्ट पदोन्नति: विधायक चुन्नीलाल सी.एल. प्रेमी बैरवा ने चिकित्सा शिक्षा विभाग में फार्मासिस्ट ग्रेड प्रथम और अधीक्षक फार्मासिस्ट के पदों की सृजन और पदोन्नति के संबंध में प्रस्ताव लगाया है।
  4. पाक सीमा पर फर्जी आधार कार्ड: रतन देवासी ने पाकिस्तान के सीमावर्ती जिलों में फर्जी आधार कार्ड बनाने के संबंध में सुरक्षा चिंताओं पर ध्यानाकर्षण प्रस्ताव लगाया है।
  5. अवैध बजरी खनन: छबड़ा विधायक प्रतापसिंह सिंघवी ने बीसलपुर बांध में अवैध बजरी खनन और निविदा में कथित अनियमितताओं के संबंध में प्रस्ताव प्रस्तुत किया है।
  6. एमएनसी में रोजगार: शिव विधायक रवींद्रसिंह भाटी ने एमएनसी कंपनियों में स्थानीय युवाओं को रोजगार दिलाने और प्रधानमंत्री ग्रामीण एवं शहरी आवास योजना के बंद पोर्टल को पुनः शुरू करने की मांग की है।

अन्य प्रमुख मुद्दे:

  • प्रतापसिंह सिंघवी बीजेपी विधायक ने 21 ध्यानाकर्षण प्रस्ताव लगाए हैं, जो सबसे अधिक हैं।
  • अन्य प्रमुख विधायक जिन्होंने ध्यानाकर्षण प्रस्ताव लगाए हैं उनमें रवींद्रसिंह भाटी (निर्दलीय), भागचंद टांकड़ा (बीजेपी), कैलाशचंद वर्मा (बीजेपी), और छगनसिंह राजपुरोहित (बीजेपी) शामिल हैं।

राजस्थान विधानसभा में बीजेपी विधायकों द्वारा उठाए गए इन मुद्दों पर सरकार को जवाब देना होगा, जिससे जनता के मुद्दों का समाधान हो सके। यह सत्र महत्वपूर्ण साबित हो सकता है, खासकर जब बजट सत्र से पहले केवल 2 दिन की बैठक रखी गई है।

post bottom ad