ज्ञानवापी मस्जिद से पहले था विशाल हिंदू मंदिर, ASI रिपोर्ट से खुलासा

वाराणसी, 25 जनवरी, 2024। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) की एक हालिया रिपोर्ट ने बड़ा खुलासा किया है कि उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में एक विशाल हिंदू मंदिर था।

हिंदू पक्ष का प्रतिनिधित्व कर रहे वकील विष्णु शंकर जैन ने गुरुवार को सर्वेक्षण रिपोर्ट पढ़ते हुए कहा कि एएसआई रिपोर्ट में कहा गया है कि मस्जिद की वर्तमान संरचना पहले से मौजूद हिंदू मंदिर पर बनाई गई है। रिपोर्ट में प्राचीन हिंदू मंदिर के शिलालेख भी मिले हैं।

जैन ने कहा कि एएसआई रिपोर्ट में कहा गया है कि सर्वेक्षण के दौरान, मौजूदा और पहले से मौजूद संरचना पर कई शिलालेख देखे गए। इनमें से कुछ शिलालेखों में जनार्दन, रुद्र और उमेश्वर जैसे देवताओं के नाम पाए जाते हैं।

इस रिपोर्ट से ज्ञानवापी मस्जिद विवाद में नए मोड़ आ गया है। हिंदू पक्ष का दावा है कि यह रिपोर्ट उनकी दलील को मजबूत करती है कि ज्ञानवापी मस्जिद का निर्माण एक हिंदू मंदिर को ध्वस्त करके किया गया था।

यह खुलासा वाराणसी की एक अदालत के उस फैसले के एक दिन बाद हुआ है, जिसमें कहा गया था कि काशी विश्वनाथ मंदिर से सटे ज्ञानवापी मस्जिद परिसर पर एएसआई सर्वेक्षण रिपोर्ट हिंदू और मुस्लिम दोनों पक्षों को दी जानी चाहिए। पिछले साल, एएसआई ने यह निर्धारित करने के लिए ज्ञानवापी परिसर का वैज्ञानिक सर्वेक्षण किया था कि क्या मस्जिद का निर्माण हिंदू मंदिर की पहले से मौजूद संरचना पर किया गया था। कोर्ट ने एएसआई सर्वेक्षण का आदेश तब दिया था, जब हिंदू याचिकाकर्ताओं ने दावा किया था कि 17वीं सदी की मस्जिद का निर्माण पहले से मौजूद मंदिर के ऊपर किया गया था।

इस रिपोर्ट से ज्ञानवापी मस्जिद विवाद में नए मोड़ आ गया है। हिंदू पक्ष का दावा है कि यह रिपोर्ट उनकी दलील को मजबूत करती है कि ज्ञानवापी मस्जिद का निर्माण एक हिंदू मंदिर को ध्वस्त करके किया गया था।

इस रिपोर्ट पर मुस्लिम पक्ष की प्रतिक्रिया अभी तक सामने नहीं आई है।

Spread the love