बारिश की कामना को लेकर घास बावजी की सवारी निकाली

0
58

मौसम की बेरुखी देख इंद्रदेव को प्रसन्न करने के लिए सोमवार शाम को नगर में ढोल ढमाकों के साथ घास बावजी की सवारी निकाली। गांव के महिलाओं ने जगह-जगह पूजा-अर्चना की। भक्त जयकारे लगाते तथा अच्छी बारिश की कामना करते हुए निकले। सवारी शीतलामाता मंदिर से निकली। जो प्रमुख मार्गों से होते हुए वापस मंदिर पहुंची। जहां विधिवत पूजा कर भोग लगाया।बारिश की खेंच देखते हुए किसानों ने सोमवार को हरियाली अमावस्या पर नगर में घास भेरू की सवारी निकालकर नगर में भ्रमण कराया। जगह-जगह पूजा-अर्चना कर अच्छी बारिश की कामना की। खरीफ फसल की बोवनी के बाद तेज बारिश नहीं होने से बीज अंकुरित नहीं हुए हैं। इससे बीज खराब होने पर फिर से बोवनी के हालात बन जाएंगे। इससे उत्पादन भी प्रभावित होगा।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Removed hay bawji for the rain

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here