शिवराज के भारी-भरकम मंत्रिमंडल विस्तार में फोकस 24 सीटों के उपचुनाव पर, जातीय और क्षेत्रीय समीकरण को साधने की कोशिश

0
23

शिवराज सिंह चौहानके भारी-भरकम मंत्रिमंडल विस्तार में जातीय एवं क्षेत्रीय संतुलन को साधने की पूरी कोशिश की गई है। मंत्री बनाते समय 24 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव पर पूरा फोकस रहा। मंत्रिमंडल से अगड़े-पिछड़े और दलित वर्ग को बराबर तवज्जो दी गई है। चुनाव को देखते हुए ग्वालियर चंबल की 16 सीटों में से 8 को मंत्री बनाया गया है। वहीं जबलपुर क्षेत्र में उपचुनाव नहीं हैं, इसलिए वहां से एक भी विधायक को मंत्री नहीं बनाया गया है। इस बीच उमा भारती ने कहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार संतुलित नहीं है। इसमें क्षेत्रीय असंतुलन साफ दिख रहा है।ग्वालियर-चंबल की 16 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है। इस क्षेत्र में सिंधिया की मजबूत पकड़ है। यहां से 8 नेता गिर्राज दंडोतिया, ऐंदल सिंह कंसाना, सुरेश धाकड़, ओपीएस भदौरिया, महेंद्र सिंह सिसोदिया, इमरती देवी, प्रद्युम्न सिंह तोमर, भारत सिंह कुशवाह मंत्री बनाए गए हैं। हालांकि ऐसा पहली बार हुआ है कि एक ही जिले सागर से तीन कैबिनेट मंत्री बनाए गए हैं, वहीं जबलपुर को एक भी मंत्री नहीं मिल पाया है। जबकि कमलनाथ मंत्रिमंडल में यहां से दो-दो कैबिनेट मंत्री थे।क्षेत्रीय संतुलन में सिंधिया की चलीपार्टी के सूत्र बताते हैं कि ग्वालियर-चंबल की 16 सीटों पर चुनाव होने हैं, इसलिए मंत्रिमंडल विस्तार में ज्योतिरादित्य सिंधिया की पूरी तरह से चली है। उन्होंने जिसे कहा, शिवराज सिंह चौहान मंत्रिमंडल में उसको शामिल कर लिया गया, जिससे चुनाव में जाते समय किसी तरह की कोई हिचकिचाहट न रह जाए। सिंधिया समर्थक गिर्राज दंडोतिया, ऐंदल सिंह कंसाना, सुरेश धाकड़, ओपीएस भदौरिया, महेंद्र सिंह सिसोदिया, इमरती देवी, प्रद्युम्न सिंह तोमर, भारत सिंह कुशवाह मंत्री बनाए गए हैं। इसमें ऐंदल सिंह कंसाना सिंधिया समर्थक नहीं माने जाते हैं।जातीय समीकरण को ऐसे साधाग्वालियर-चंबल क्षेत्र से गिर्राज दंडोतिया (ब्राह्मण), ऐंदल सिंह कंसाना (गुर्जर), सुरेश धाकड़ (किरार समाज), ओपीएस भदौरिया (ठाकुर), महेंद्र सिंह सिसोदिया (ठाकुर), इमरती देवी (अनूसूचित जाति), प्रद्युम्न सिंह तोमर (ठाकुर), भारत सिंह कुशवाह (कुशवाह समाज) को साधने की कोशिश की गई है।भाजपा के 16 मंत्री तो सिंधिया के 9 मंत्री बनेमंत्रिमंडल विस्तार में भाजपा के 16 मंत्री बनाए गए हैं। इसमें 7 पुराने और 9 नए चेहरे शामिल किए गए है। इसके साथ ही सिंधिया खेमे के 12 मंत्रियों ने शपथ ली है, इसमें 3 मंत्रियों को सिंधिया समर्थक नहीं माना जाता है। जिसमें हरदीप सिंह डंग, बिसाहूलाल सिंह और एंदल सिंह कंसाना शामिल हैं। इस खेमे के अब 14 मंत्री हो गए हैं।भाजपा के 16 मंत्री, 9 नए चेहरे1. गोपाल भार्गव2. भूपेंद्र सिंह3. यशोधरा राजे सिंधिया4. विजय शाह5.जगदीश देवड़ा6. बृजेंद्र प्रताप सिंह7. विश्वास सारंग8. प्रेम सिंह पटेल9. इंदर सिंह परमार10. उषा ठाकुर11. ओम प्रकाश सकलेचा12. भारत सिंह कुशवाह13. रामकिशोर कांवरे14. मोहन यादव15. अरविंद भदौरिया16. राम खिलावन पटेलसिंधिया खेमे से 9 और कांग्रेस से भाजपा में आए 3 मंत्री बनेसिंधिया खेमे से1. महेंद्र सिंह सिसोदिया2. प्रभुराम चौधरी3. प्रद्युम्न सिंह तोमर4. इमरती देवी5. राज्यवर्धन सिंह6. ओपीएस भदौरिया7. गिर्राज दंडोतिया8. सुरेश धाकड़ (राठखेड़ा)9. बृजेंद्र सिंह यादवकांग्रेस से भाजपा में आए1. हरदीप सिंह डंग2. बिसाहूलाल सिंह3. एंदल सिंह कंसाना
आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

शिवराज के मंत्रिमंडल विस्तार में ज्योतिरादित्य सिंधिया को पूरी तवज्जो दी गई है, उनके खेमे के 9 मंत्रियों ने शपथ दिलाई गई है। -फाइल फोटो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here