संक्रमित ने इलाज के दौरान तोड़ा दम, लोगों में दहशत; प्रशासन ने इलाका किया सील

0
120

(मूल सिंह नाथावत/ ताराचंद यादव)।जयपुर जिले मेंइटावा भोपजी के ढ़हर की ढ़ाणी निवासी 42 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति की बुधवार को एसएमएस में इलाज के दौरान मौत हो गई। युवक के स्वास्थ्य परीक्षण में कोरोना पाजीटीव पाए जाने पर क्षेत्र में हड़कंप मच गया। प्रशासनिक अमला सूचना पाते ही मौके पर पहुंच गया।हालत नहीं सुधरने पर 28 जून को जयपुर रैफर किया थाजानकारी के अनुसार इटावा भोपजी का 42 वर्षीय व्यक्ति काफी दिनों से बीमार था। उसका तीन-चार दिन से चौमूं के सरकारी और गैर सरकारी अस्पातालों में इलाज चल रहा था। हालात खराब होने पर उसे 28 जून को जयपुर रैफर कर दिया गया।परिजनों ने सवाई मानसिंह चिकित्सालय, जयपुर में भर्ती करवाया जहां उसकी मौत हो गई। सवाई मानसिंह चिकित्सालय में की गई जांच में वह कोविड-19 टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव पाया गया।मामले की सूचना मिलने पर चौमू उपखंड़ अधिकारी हिम्मत सिंह ने इटावा भोपजी कस्बे का दौरा कर दुकानदारों को सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क आदि के लिए पाबंद किया। सामोद थाना एसएचओ हरबेंद्र सिंह को ढ़हर की ढ़ाणी के 100 मीटर के दायरे को सील करने के निर्देश दिए।सामोद थाना पुलिस हैडकांस्टेबल श्रीराम के नेतृत्व में पुलिस ने चिकित्सकों के सहयोग से कंटेनमेंटं जोन घोषित कर एरिया को सील कर दिया। चिकित्सकों की टीम ने पॉजिटिव आने वाले लोगों की सूची तैयार की। साथ ही उसके परिजनों को होम क्वारैंटाइन किया। संभावित क्षेत्र में लोगों को घरों से नहीं निकलने की सख्त हिदायत दी गई है। कोरोना पॉजिटिव केस मिलने के बाद लोगों में दहशत व खौफ का माहौल है। कस्बे की पीएचसी में 14 लोगों की सैपंलिंग की गई।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

इटावा भोपजी में कोरोना मरीज की मौत के बाद गांव में सैंपलिंग करती चिकित्सा विभाग की टीम।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here