राजस्थान में टिडि्डयों पर अब हवाई हमला होगा, इंडियन एयरफोर्स ने तीन एमआई-17 हेलिकॉप्टर तैयार किए

0
18

टिडि्डयों के सफाया के लिए अबइंडियन एयरफोर्स मदद के लिए आगे आया है। एयरफोर्स ने अपने तीन एमआई-17 हेलिकॉप्टरों को मॉडिफाइड कर टिड्‌डी पर स्प्रे करने को तैयार कर दिया है। ये हेलिकॉप्टार महज 40 मिनट में 750 हेक्टेयर क्षेत्र में 800 लीटर कीटनाशक का छिड़काव कर देगा। इन तीन में से एक हेलिकॉप्टर को जोधपुर एयरबेस पर तैनात किया जाएगा। यहांटिड्‌डी दलों के भारतीय सीमा में प्रवेश करते ही ये हेलिकॉप्टरहमला करने को उड़ान भरेगा।एयरफोर्स ने अपने एमआई-17 हेलिकॉप्टरों में कुछ सुधार किए हैं।इनमें पंपसमेत कीटनाशक स्प्रे का टैंक औरनोजल लगाने के लिए ब्रिटेन की एक कंपनी के साथ कुछ माह पहले करार किया गया था, लेकिन कोरोना के कारणकंपनी सेवाएं नहीं दे पाई। इसके बाद एयरफोर्स के इंजीनियरों ने अपनेस्तर पर चंडीगढ़ में तीन हेलिकॉप्टरों कोतैयार किया। इनका वहां टेस्ट पूरा हो चुका है।शीघ्र ही एक हेलिकॉप्टर जोधपुर भेजाजाएगा। यह हेलिकॉप्टर टिड्‌डी नियंत्रण विभाग के साथ मिलकर उनके बताए गए इलाकोंमें टिडि्डयों का खात्मा करेगा। इसके लिए कीटनाशक टिड्‌डी नियंत्रण विभाग उपलब्ध कराएगा।कल केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने एक हेलिकॉप्टर बाड़मेर भेजाकेंद्रीयकृषि मंत्रालय ने देशभर के लिएपहली बार निजी कंपनी के पांच हेलिकॉप्टर किराए पर लिए हैं। इन हेलिकॉप्टर को विशेष रूप से तैयार किया गया है। एक हेलिकॉप्टर बाड़मेर के उत्तरलाई एयरबेस पर तैनात रहेगा। जरूरत के आधार पर इसे बाड़मेर के साथ ही जैसलमेर, जोधपुर, बीकानेर औरनागौर जिलों में टिड्‌डी नियंत्रण के लिए काम में लिया जाएगा।मंगलवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने नोएडा से बाड़मेर के लिए एक हेलिकॉप्टर को रवाना किया। देश में इस समय 12 ड्रोन टिडि्डयों को मारने के लिए काम कर रहे हैं। इसके अलावा ट्रैक्टर पर कंप्रेशर स्प्रे की सहायता से टिडि्डयों को खात्मा किया जा रहा है।एयरफोस के हेलिकॉप्टर की खासियत….निजी हेलिकॉप्टर की अपेक्षा एयरफोर्स के हेलिकॉप्टर की क्षमता कहीं ज्यादाहै। इसके लिए हेलिकॉप्टर के अंदर ही 800 लीटर का एक टैंक रखा गया है। दो नोजल पायलट सीट के नीचे बाहर दोनों तरफ लगाए गए हैं। एक पंप के जरिएटैंक से कीटनाशक का छिड़काव नोजल से किया जाएगा।निजी हेलीकॉप्टर की खासियत….निजी हेलिकॉप्टर एक बार में महज 250 लीटर कीटनाशक का स्प्रे सिर्फ 50 हेक्टेयर क्षेत्र में ही कर सकता है। इसमें पायलट के नीचे दोनों तरफ स्प्रे करने की सुविधा है। एक हेलिकॉप्टर कीउड़ान पर करीब सवा करोड़ रुपए खर्च आने की संभावना है। कंपनी से हुए करार के तहत 60 दिन में इसकी 100 घंटे की उड़ान अनिवार्य है।एमआई-17 हेलिकॉप्टर के बारे में….रूस में बने एमआई-17 हेलिकॉप्टर को बहुत शक्तिशाली माना जाता है। दो इंजन वाला यह हेलिकॉप्टर अधिकतम 260 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से उड़ान भर सकता है। इसमें एक साथ दो पायलट के अलावा 24 जवानों को ले जाया जा सकता है। यह 4000 किलोग्राम भार ले जाने में सक्षम है। एयरफोर्स में इसकी एक यूनिट जोधपुर और दूसरी जिले में ही फलोदी एयरबेस पर तैनात है।एफएओ कीचेतावनी- अभी और हो सकते हैं टिड्‌डी हमलेसंयुक्त राष्ट्र संघ के संगठन एफएओ (फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गेनाइजेशन) ने चेतावनी जारी की है कि राजस्थान में टिडि्डयों का खतरा फिलहाल टला नहीं है। सीमा के निकट भारत औरपाकिस्तान में टिडि्डयों ने बड़ी संख्या में अंडे देना शुरू किए हैं। यहतारबंदी के नीचे से होकर भारतीय सीमा में प्रवेश कर रहेहैं। भारतीय सीमा के निकट सिंध प्रांत में टिडि्डयों ने बड़ी संख्या में अंडे दिए हैं। जबकि खैबर पख्तूनवा प्रांत से टिडि्डयों के बड़े दल उड़ान भरने की तैयारी में हैं। दूसरी तरफ ईरान से सटी पाकिस्तान की सीमा के भीतर अंडों से निकले टिड्‌डे युवा होकर फसलों पर हमला करते हुए आगे बढ़ने की तैयारी में हैं।एफएओ का कहना है किअगर टिडि्डयों कोकंट्रोल नहीं किया जाता तो इनकी संख्या काफी ज्यादाबढ़ सकती है। संगठन के अनुसार, टिडि्डयों के कुछ समूह पश्चिमी राजस्थान में सक्रिय हैं।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

इंडियन एयरफोर्स ने 3 एमआई-17 हेलिकॉप्टर को टिड्‌डी मारने के लिए तैयार किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here