ग्लोबल टाइम्स ने लिखा- भारत और चीन जवानों को बैच में हटाने पर राजी हुए, कमांडर लेवल की तीसरी बैठक में फैसला हुआ

0
23

भारत और चीन के कमांडरों के बीच बैठक में तय हुआ है कि तनाव कम करने के लिए दोनों देश अपनी सेनाएं बैच में हटाएंगे। चीनी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने बताया कि दोनों देशों के लेफ्टिनेंट जनरल ने मंगलवार को करीब 12घंटे चली बैठक में यह फैसला लिया गया था।रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणेशुक्रवार को लेह जाएंगे। वहां पर वे पूर्वी लद्दाख में सुरक्षा हालातों की समीक्षा करेंगे। इस दौरान रक्षा मंत्री सेना के बड़े अफसरों के साथ हाई लेवल मीटिंग भी कर सकते हैं। पूर्वी लद्दाख में पिछले सात हफ्तों से भारत और चीन की सेना कई जगहों पर टकराव की स्थिति में है।मंगलवार को हुई मीटिंग मेंभारत की ओर से 14 कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरमिंदर सिंह और चीन की ओर से तिब्बत मिलिट्री के कमांडर मेजर जनरल लियू लिन शामिल हुए थे।धीरे-धीरे ही घटाया जा सकता है तनाव इस बैठक में कहा गया कि एलएसी पर तनाव घटाने की प्रक्रिया कठिन है। इस समय मनगढ़ंत और फर्जीरिपोर्टों से बचना चाहिए। मंगलवार को हुई बातचीत में दोनों देशों ने 6 जून को पहली बार कमांडर लेवल की बातचीत में बनी आपसी समझ को लागू करने की बात कही। सूत्रों के मुताबिक, बातचीत से एलएसी पर तनाव कम करने की दोनों तरफ से सकारात्मक रूख आया है। दोनों देशों में मिलिट्री और डिप्लोमैटिक लेवल पर भी बातचीत हो सकती हैं। यह सीनियर मिलिट्री कमांडर लेवल की तीसरी बैठक है, इसमें दोनों पक्षों ने जोर दिया कि एक कई फेज की बातचीत के जरिए धीरे-धीरे ही तनाव घटाया जा सकता है।भारत-चीन सीमा पर सैनिकों को हटाने के लिए सहमत- ग्लोबल टाइम्सग्लोबल टाइम्स ने सूत्रों के हवाले से बताया कि मंगलवार को कमांडर लेवल की बातचीत में दोनों देशों ने स्पष्ट रूप से अपनी बात कही। इस दौरान आपसीविश्वास बढ़ाने, मतभेदों को दूर करने, एलएसी से सैनिकों को टुकड़ों में हटाने और हालात सामान्य बनाने पर सहमति बनी।ग्लोबल टाइम्स ने लिखा-अब यह जरूरी है कि भारत को चीन से खुद बढ़कर मिलना चाहिए। बॉर्डर पर सैनिकों के एक्शन पर सख्ती से लगाम लगानी चाहिए।कट्‌टरपंथी कदम नहीं उठाने चाहिए और भारत-चीन के सीमा क्षेत्रों में शांति की रक्षा करनी चाहिए। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने बुधवार को कहा कि भारत और चीन ने कमांडर लेवर की बातचीत के जरिए हालतों को सामान्य बानाने में अच्छी प्रगति की है।ये भी खबरें पढ़ सकते हैं…1.चीन को डर सता रहा है कि गलवान में मारे गए सैनिकों की संख्या बता दी तो देश में विद्रोह हो जाएगा: रिपोर्ट2.बातचीत के दिखावे के बीच चीन ने एलएसी पर 20 हजार सैनिक भेजे, भारत ने भी जवाबी तैयारी की, अक्टूबर के पहले हालात सुधरना मुश्किल3.चीन ने अब भूटान की जमीन पर दावा किया; भूटान का जवाब- दावा गलत, वो जमीन हमारे देश का अटूट हिस्सा4.टिक टॉक, यूसी ब्राउजर और शेयर इट समेत 59 चाइनीज ऐप्स पर बैन, सरकार ने कहा- ये देश की सुरक्षा और एकता के लिए खतरा
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे शुक्रवार को पूर्वी लद्दाख में सुरक्षा हालातों की समीक्षा करेंगे।  -फाइल फोटो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here