मेट्रो और अंतरराष्ट्रीय उड़ानें अभी बंद रहेंगी, घरेलू उड़ानों और ट्रेन सर्विस में इजाफा होगा

0
105

देश में अनलॉक-2 के लिए सोमवार रात गाइडलाइन जारी कर दी गई। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर यह 31 जुलाई तक जारी रहेगा। अनलॉक के दूसरे फेज मेंभी मार्च के आखिरी हफ्ते से बंद अंतराष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने पर कोई फैसला नहीं हुआ है। हालांकि, उन इंटरनेशनल फ्लाइट्स को उड़ान भरने की छूट दी जाएगी, जिन्हें गृह मंत्रालय की तरफ से इजाजत मिली हो। इसके अलावा देशभर में मेट्रो सेवा भी बंद रहेगी। वहीं, घरेलू उड़ानें और ट्रेन सर्विस में धीरे-धीरे इजाफा किया जाएगा।देश में कोरोना संक्रमण की रोकथान के लिए सरकार ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर 22 मार्च से प्रतिबंध लगाया था। घरेलू उड़ानें भी रोकी गई थीं, हालांकि, यह 25 मई से शुरू कर दी गई थीं। 21 मई को इसके लिए डिटेल गाइडलाइंस भी जारी की गई थीं।12 अगस्त तक रेगुलर ट्रेनें नहीं चलेंगी, 230 स्पेशल ट्रेनें जारी रहेंगीउधर, रेलवे की रेगुलर ट्रेन सर्विस 12 अगस्त तक शुरू नहीं होगी। इससे पहले भी 30 जून तक रेगुलर ट्रेन सेवा कैंसिल करने का फैसला लिया था। हालांकि, 230 मेल और स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेनें चल रही हैं और यह जारी रहेंगी। 12 अगस्त तक रद्द रहने वाली गाड़ियों में टिकट बुकिंग कराने वाले यात्रियों को 100% रिफंड दिया जा रहा है।वंदेभारत मिशन के तीसरे फेज में 1.82 लाख से ज्यादा भारतीय लौटेसरकार विदेशों में फंसे भारतीयों को देश वापस ला रही है। इसके लिए मिशन का चौथा चरण 3 से 15 जुलाई तक चलेगा। 11 जून को शुरू हुए तीसरे चरण में 24 जून तक 1 लाख 82 हजार 313 यात्रियों को वापस लाया गया है। इसके लिए 1441 फ्लाइट चलाई गईं।करीब 20 एयरपोर्ट से अंतरराष्ट्रीय उड़ानेंदेश के करीब 20 हवाईअड्डों से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें मिलती हैं। इन एयरपोर्ट्स से 55 देशों के 80 शहरों तक पहुंच सकते हैं। दुनिया के कई देश कोरोना की चपेट में हैं। ऐसे में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक जारी रखना जरूरी है। स्टेटिस्टा के मुताबिक, भारत में 2019 में करीब 7 करोड़ लोगों ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में सफर किया।अनलॉक-2 से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं..1.स्कूल-कॉलेज और कोचिंग इंस्टिट्यूट 31 जुलाई तक बंद रहेंगे2.महाराष्ट्र-तमिलनाडु में लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ाया गया
आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

देश के करीब 20 हवाईअड्डों से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें मिलती हैं। इन एयरपोर्ट्स से 55 देशों के 80 शहरों तक पहुंच सकते हैं। (फाइल)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here