बीजेपी उपाध्यक्ष आहूजा बोले, सरकार ने तुष्टिकरण के चलते घटना को दबाने की कोशिश की

0
16

नाबालिग युवती से दुष्कर्म के बाद पिता की हत्या के मामले में राजनीति गरमा गई है। रविवार को भाजपा के अलवर, जयपुर, दौसा सांसद व प्रदेश उपाध्यक्ष ज्ञानदेव आहूजा पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे। सांसदों ने मृतक की पत्नी और नाबालिग से बात करने के बाद कहा कि स्थानीय विधायक व सरकार के दबाव में घटना को दबाने का प्रयास हुआ। जो एफआईआर होनी चाहिए थी, वह समय पर नहीं हुई। इससे पीड़िता के पिता की हत्या हो गई।कांग्रेस वोट बैंक के लिए मुस्लिम तुष्टिकरण की नीति अपना रही है। सांसदों ने मामले में पीड़ित पक्ष को धमकाने के आरोपी रामगढ़ थाने के एएसआई पर तत्काल कार्रवाई की मांग की। जयपुर सांसद रामचरण बोहरा ने परिवार से चर्चा की। दौसा सांसद जसकौर मीणा ने मृतका की पत्नी व पीडित नाबालिग से बात की। इसके बाद मीणा ने कहा- दुष्कर्म पीड़िता दसवीं में 85% अंक लाने वाली होनहार बेटी है। लेकिन डेढ़ साल से छेड़छाड़ व गैंगरेप ने उसकी पढ़ाई बर्बाद कर दी।बेटी की पीड़ा के बाद पति की मौत ने उसकी मां को सदमे में ला दिया, लेकिन संवेदनहीन सरकार का कोई जनप्रतिनिधि अब तक परिवार से मिलने तक नहीं आया। अलवर सांसद महंत बालक नाथ ने कहा कि यहां मानवता शर्मसार हुई है। पुलिस व प्रशासन की ढिलाई के कारण एफआईआर में देरी हुई। जिससे उसके पिता की हत्या हो गई। इसकी वजह यहां के जनप्रतिनिधि है।वे अपराधियों को संरक्षण देते हैं। इस दौरान भाजपा सांसदों के साथ फुलेरा विधायक निर्मल कुमावत, शहर विधायक संजय शर्मा, जिला अध्यक्ष संजय नरूका, रमन गुलाटी, महामंत्री रामअवतार चौधरी, सरपंच कृष्ण यादव, देवेंद्र दत्ता मौजूद रहे। सूचना पर एएसपी शिवलाल बैरवा, डीएसपी दीपक शर्मा, थानाधिकारी वीरेंद्र यादव भी जाब्ते के साथ पहुंचे।मुख्यमंत्री से सरकारी नौकरी की मांगभाजपा सांसदों ने मुख्यमंत्री से न्याय की अपील करते हुए दुष्कर्म पीड़िता व परिवार को संरक्षण, सरकारी नौकरी, मुख्यमंत्री सहायता कोष से आर्थिक मदद की मांग करते हुआ कहा कि थानागाजी गैंगरेप मामले में राहुल गांधी आगे बढ़ कर सामने आए थे। मगर अब सरकार का कोई नुमाइंदा तो दूर स्थानीय विधायक पीड़िता से मिलने नहीं पहुंची। उल्टे अपराधियों को संरक्षण दे रही हैं।आहूजा बोले-यहां हरियाणा नहीं बनने देंगेभाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष ज्ञानदेव आहूजा ने कहा कि अपराधियों को संरक्षण देने वाले पूर्व व वर्तमान स्थानीय जनप्रतिनिधि पर आपराधिक केस चलना चाहिए। पीड़ित परिवार को सांत्वना देने के बजाय मुखिया का मर्डर करवा दिया गया। यह निंदनीय है। हरियाणा के 103 गांवों को हिंदू विहीन कर दिया गया है, लेकिन यहां ऐसा नहीं होने देंगे।जयपुर-सांगानेर सांसद बोहरा ने कहा कि नाबालिग किशोरी के साथ बातचीत में पता चला है कि गैंगरेप, आत्महत्या के प्रयास के बाद स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा मामला दर्ज नहीं होने का दबाव बनाया। बात नहीं मानी तो पीड़िता के पिता की हत्या कर पेड से शव लटका दिया। एफआईआर में 2 दिन की देरी से साफ है कि यहां के मुस्लिम तुष्टीकरण वाले नेता दबाव बना रहे थे। बोहरा ने एएसपी बैरवा से पीड़ित युवती के भाई को टॉर्चर के आरोपी एएसआई कमालदीन लाइन भेजने की मांग की।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

अलवर. कार्रवाई की मांग करते भाजपा के सांसद व प्रदेश उपाध्यक्ष आहूजा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here