27 जिलों में छाया मानसून; चूरू में 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आई लाल-पीली आंधी, दिन में छाया अंधेरा

0
102

राजस्थान में एक दिन पहले आया दक्षिण-पश्चिमी मानसून गुरुवार को राज्य के 27 जिलों में छा गया। अब पश्चिमी राजस्थान के छह जिलों में मानसून के प्रवेश का इंतजार है। इसके असर से गुरुवार को कई स्थानों पर आंधी-बरसत हुई। जैसलमेर में बुधवार रात को आए भीषण तूफान ने जमकर तबाही मचाई। श्रीगंगानर में सुबह तेज आंधी आई उसके बाद अच्छी बरसात हुई। वहीं चूरू, बीकानेर, सीकर और जयपुर में भी आंधी के बाद हल्की बरसात हुई। चूरू में दोपहर में लाल-पीली आंधी आई। इससे दिन में अंधेरा छा गया। आंधी ज्यादा देर नहीं रही और इसका वेग भी बहुत ज्यादा नहीं था। इसके बाद हल्की बरसात हुई। राज्य में गुरुवार को सबसे अधिक तापमान बाड़मेर में 42.4 डिग्री रहा। जयपुर में तापमान 39.4 डिग्री रहा।चूरू में 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आई आंधी,15 मिनट तक छाया रहा अंधेराजिले में गुरुवार सुबह करीब आधे घंटे तक काली, पीली और लाल आंधी आई। सरदारशहर, सादुलपुर, तारानगर, रतनगढ़ आदि कस्बों व इन तहसीलों के गांवों में आंधी आई। चूरू करीब 15 मिनट तक अंधेरे के आगोश में रहा। मौसम विभाग के अनुसार सुबह 11.20 बजे 70 किमी प्रति घंटे की स्पीड से आई आंधी ने चूरू में प्रवेश किया तथा 11.50 बजे इसका असर समाप्त हो गया।आंधी के बादचूरू सहित अन्य स्थानों पर हल्की बूंदाबांदी हुई।सीकर। यहां दिनभर मौसम के मिजाज बदले रहे। इलाके में दोपहर तक धूप में तेजी रही। दोपहर बाद अंधड़ के साथ कई स्थानों पर बारिश हुई। फोटो : विशाल सैनी।इसलिए आई आंधी:मौसम विशेषज्ञों का मानना है कि सुबह 11 बजे चूरू में गर्मी के कारण हवा का कम दबाव था, इसलिए उत्तरी-पश्चिमी साइड से अत्यधिक दबाव की हवा इस ओर से आई। जयपुर मौसम विभाग के महानिदेशक शिव गणेश ने बताया कि हवा हमेशा अधिक दबाव से कम दबाव की ओर चलती है, इसलिए चूरू में आंधी आई।सीकर में तेज अंधड़, कई स्थानों पर हल्की बारिशशेखावाटी में गुरुवार को दिनभर मौसम के मिजाज बदले रहे। इलाके में दोपहर तक धूप में तेजी रही। दोपहर बाद अंधड़ के साथ कई स्थानों पर बारिश हुई। शाम तक बादल छाए रहने की वजह से तापमान में भी 3 डिग्री से ज्यादा की गिरावट रही। फतेहपुर में गुरुवार को अधिकतम 36.4 और न्यूनतम तापमान 27.2 डिग्री रहा। बुधवार को यहां अधिकतम तापमान 40.0 डिग्री तथा न्यूनतम तापमान 27.4 डिग्री था।जयपुर के ग्रामीण इलाकों में आंधी-बरसात आईउधर, मानसून ने जयपुर में छह दिन पहले जयपुर में दस्तक दे दी है। यहां एक जुलाई को मानसून आने वाला था। जयपुर के बस्सी सहित आस-पास के ग्रामीण इलाकों में भी आसमान में धूल का गुबार छा गया। बस्सी के देवगांव में दोपहर बाद हल्की बरसात हुई। वहीं जयपुर के शाहपुरा में करीब 20 मिनट तक हल्की बरसात के बाद आसमान में लाल आंधी छा गई। धूल जमीन पर नहीं आई तथा ऊपर ही रही। जैसलमेर में बीती रात तूफान ने जमकर तबाही मचाईजिले के सीमावर्ती गांवों करड़ा, पोछीना व गुंजनगढ़ में में बुधवार की रात तेज तूफान ने भारी नुकसान पहुंचाया। रात करीब साढ़े आठ बजे एकाएक तूफान ने सीमावर्ती गांवों को अपनी चपेट में ले लिया। यहां 30 से अधिक कच्चे-पक्के मकान गिर गए, 25 किमी दायरे में बिजली के तार व खंभे व टूट गए, सैकड़ों साल पुराने वृक्ष भी धराशायी हो गए।मानसून आगे बढ़ामानसून ने राज्य को 13 दिन पहले ही कवर लिया है। यहां आठ जुलाई तक पूरे राज्य में मानसून छाने वाला था। मानसून के आगे बढ़ने के लिए मौसमी परिस्थितियां बहुत अनुकूल बनी हुई हैं। मानसून ने जैसलमेर से आगे बढ़त हुए नागौर, अलवर होते राज्य से बाहर दिल्ली, करनाल, फिरोजपुर तक दस्तक दे दी है।इस प्रकार मानसून ने दो दिनों में राजस्थान के 27 जिलों में प्रवेश कर लिया है।मौसम केंद्र जयपुर के निदेशक शिव गणेश के अनुसार दक्षिण पश्चिम मानसून ने पश्चिमी राजस्थान के 6 जिलों बाड़मेर, जालोर, पाली, जोधपुर, जैसलमेर, नागौर और पूर्वी राजस्थान के 21 जिलों सिरोही, राजसमंद, उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, प्रतापगढ़, झालावाड़, कोटा, बून्दी, बारां, भीलवाड़ा, टोंक, सवाईमाधोपुर, अजमेर, जयपुर, दौसा, भरतपुर, धौलपुर, करौली और अलवर में दस्तक दे दी है। पश्चिमी राजस्थान के 4 जिलों बीकानेर, गंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू और पूर्वी राजस्थान के दो जिलों झुंझुनूं और सीकर में मानसून का दस्तक देना शेष है।इनपुट: आशीष गौतम, इमरान खानदेवगांव क्षेत्र में आधा घंटा तेज बारिश से किसान खुश हो गए। किसानों ने बताया कि आज इस बारिश से बोई हुई मूंगफली की फसल को बहुत फायदा हुआ है। फोटो : अमित नाटाणी
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

सीकर। गुरुवार को अंधड़ के दौरान बजाज रोड क्षेत्र का नजारा। यहां दोपहर बाद अंधड़ के साथ कई स्थानों पर बारिश हुई। फोटो : विशाल सैनी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here