विकास अधिकारी ने रिश्वत के 50 हजार अलमारी में रखे, एसीबी ने रंगे हाथ किया गिरफ्तार, ट्रांसफर कैंसिल करने के एवज में ली रिश्वत

0
112

(रमेश टेलर). जिले के गंगरार मेंउदयपुर भ्रष्ट्राचार निरोधक ब्यूरों ने पंचायत समिति के विकास अधिकारी को 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। विकास अधिकारी ने संविदा पर कार्यरत तकनीकीसहायक के ट्रांसफर को कैंसिल करने के लिए एक लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। जिसमें से आधी राशि50 हजार सरकारी आवास पर लेत समय गिरफ्ता कर लिया गया।उदयपुर एसीबी के सीआई हरिशचंद्र सिंह ने बताया कि 21 जून को गंगरार पंचायत समिति में तकनीकी सहायक अनील यादव ने शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें बताया गया कि, उसका गंगरार से भैसरोड़गढ़ ट्रांसफर कर दिया गया है। ट्रांसफर कैंसल करने के लिए विकास अधिकारी रुप सिंह गुर्जर ने उससे एक लाख रुपए की रिश्वत मांगी है। एसीबी ने मामले का सत्यापन किया। गुरुवार दोपहर को अनील को रिश्वत के पचास हजार रुपए देने के लिए विकास अधिकारी ने आवास पर बुलाया। इस दौरान एसीबी उदयपुर की टीम ने परिवादी अनील का इशारा मिलते ही विकास अधिकारी रुपसिंह को सरकारी क्वार्टर से रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। सीआई हरिशचंद्र सिंह ने बताया कि विकास अधिकारी शिक्षा विभाग से पिछले कई वर्षो से डेप्युटेशन पर कार्यरत है।पहले मिलते तो ट्रांसफर ही नहीं होतापूछताछ में अनील ने बताया कि विकास अधिकारी ने उससे कहा था कि पहले मिल लेते तो ट्रांसफर ही नही होता। अब एक लाख रुपए दे दो तुम्हे रिलीव ही नहीं करुंगा।हाथों से गिनकर अलमारी में रखे रुपएअनील द्वारा रुपए देने के बाद विकास अधिकारी ने अपने हाथों से गिनकर रुपए अलमारी में रखे। जिसके बाद कहा अब तुम निश्चिंत होकर जाओ। अगले 50 हजार जल्द दे देना।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

उदयपुर एसीबी द्वारा कार्रवाई को अंजाम दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here