भारत-चीन के बीच आज जॉइंट सेक्रेटरी लेवल की मीटिंग हो सकती है; आर्मी अफसरों की चर्चा में शांति बनाए रखने पर सहमति बनी थी

0
18

भारत-चीन के बीच तनाव कम करने के लिए आज दोनों देशों के बीच जॉइंट सेक्रेटरी लेवल की वर्चुअल मीटिंग हो सकती है। न्यूज एजेंसी एएनआई ने यह रिपोर्ट दी है। मीटिंग हुई तो गलवान झड़प के बाद यह पहली डिप्लोमेटिक चर्चा होगी। अब तक दोनों देशों की आर्मी के अफसरों के बीच बात हो रही थी।इससे पहले सोमवार को चीन बॉर्डर पर स्थित मॉल्डो में लेफ्टिनेंट जनरल लेवल की मीटिंग हुई। इसके बाद मंगलवार को भारतीय सेना ने बताया कि दोनों ओर से शांति रखने पर सहमति बनी है। पूर्वी लद्दाख में टकराव वाली जगहों से दोनों देश अपने सैनिक पीछे हटाएंगे।आर्मी चीफ लद्दाख दौरे पर, घायल जवानों से मिलेआर्मी चीफ जनरल एम एम जनरल नरवणे मंगलवार को लद्दाख पहुंचे। उन्होंने चीन से झड़प में घायल जवानों से मुलाकात की। इसके बाद सीनियर अफसरों से भी मिले। वे आज भी लद्दाख में रहेंगे।विदेश मंत्री ने कहा- अंतरराष्ट्रीय कानून का सम्मान जरूरीविदेश मंत्री एसजयशंकर मंगलवार को आरआईसी (रूस-भारत-चीन) सम्मेलन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े। उन्होंने चीन के विदेश मंत्री की मौजूदगी में कहा- ‘यह बैठक अंतरराष्ट्रीय संबंधों के सिद्धांतों पर हमारा विश्वास दोहराती है। अंतरराष्ट्रीय कानून का सम्मान और सभी के हितों को बढ़ावा देना ही स्थायी व्यवस्था बनाने का तरीका है।’चीन ने कहा- हमारे 40 सैनिक मारे जाने की बात गलतलद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून को भारत-चीन के सैनिकों में झड़प हुई थी। इसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए। चीन के भी 40 जवान मारे गए, लेकिन उसने यह कबूला नहीं। चीन ने मंगलवार को कहा कि हमारे 40 जवान मारे जाने की बात झूठी है।
आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

यह सैलेलाइट इमेज गलवान वैली की है, भारत-चीन के सैनिकों के बीच झड़प यहीं हुई थी। (क्रेडिट: मक्सर टेक्नोलॉजीज)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here