कोरोना संक्रमित एक और युवक की थमी सांसें, अब तक 34 जने गंवा चुके है जान

0
25

शहर में सोमवार सुबह एक कोरोना संक्रमित युवक की मौत हो गई। सिवांची गेट निवासी 24 वर्षीय हारुन शाह को सांस लेने में दिक्कत व सीने में दर्द होने पर 11 जून को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान देर रात उसकी मौत हो गई। इस तरह शहर में अब तक 34 कोरोना संक्रमित लोगों की मौत हो चुकी है। जोधपुर में अब तक 2414 कोरोना संक्रमित मिल चुके है। इनमें से 2011 को डिस्चार्ज किया जा चुका है और 370 एक्टिव केस है। शहर में रविवार काे काेराेना से 33वीं माैत हुई थी। एम्स में भर्ती बागर चौक स्थित रावत बिल्डिंग के सामने रहने वाले किशोर (62) ने दम ताेड़ दिया। वे अस्थमा, कार्डियक डिजीज व हाइपर टेंशन जैसी दूसरी बीमारियों से भी पीड़ित थे। वहीं 37 नए राेगी सामने आए। रविवार काे 29 और राेगियाें काे स्वस्थ हाेने पर डिस्चार्ज भी किया गया। इनमें से 5 काे काेविड केयर सेंटर, 9 काे एम्स व 15 काे हाेम आइसाेलेशन से छुट्टी मिली। अब 83.30% यानी 2011 राेगी ठीक हाे चुके हैं। एक्टिव केस 370 ही बचे हैं।हाेम आइसाेलेशन में नहीं मिल रहा निशुल्क इलाजजिला प्रशासन की ओर से हाेम आइसाेलेशन में रहने वाले काेराेना संक्रमित मरीजाें काे निशुल्क उपचार की सुविधा नहीं दी जा रही। मरीजाें काे दवाइयाें का खर्चा स्वयं ही उठाना पड़ रहा है। इसके अलावा थर्मामीटर व प्लसऑक्सीमीटर तक मरीज खुद ला रहे हैं। जबकि राज्य सरकार की ओर से निशुल्क चिकित्सा व्यवस्था देने के निर्देश हैं। लेकिन शहर में होम क्वारेंटाइन किए हुए मरीजों को इलाज का खर्चा स्वयं उठाना पड़ रहा है।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Another young man of Corona infected stopped breathing, so far 34 people have lost their lives

शहर में सोमवार सुबह एक कोरोना संक्रमित युवक की मौत हो गई। सिवांची गेट निवासी 24 वर्षीय हारुन शाह को सांस लेने में दिक्कत व सीने में दर्द होने पर 11 जून को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान देर रात उसकी मौत हो गई। इस तरह शहर में अब तक 34 कोरोना संक्रमित लोगों की मौत हो चुकी है। जोधपुर में अब तक 2414 कोरोना संक्रमित मिल चुके है। इनमें से 2011 को डिस्चार्ज किया जा चुका है और 370 एक्टिव केस है।
शहर में रविवार काे काेराेना से 33वीं माैत हुई थी। एम्स में भर्ती बागर चौक स्थित रावत बिल्डिंग के सामने रहने वाले किशोर (62) ने दम ताेड़ दिया। वे अस्थमा, कार्डियक डिजीज व हाइपर टेंशन जैसी दूसरी बीमारियों से भी पीड़ित थे। वहीं 37 नए राेगी सामने आए। रविवार काे 29 और राेगियाें काे स्वस्थ हाेने पर डिस्चार्ज भी किया गया। इनमें से 5 काे काेविड केयर सेंटर, 9 काे एम्स व 15 काे हाेम आइसाेलेशन से छुट्टी मिली। अब 83.30% यानी 2011 राेगी ठीक हाे चुके हैं। एक्टिव केस 370 ही बचे हैं।
हाेम आइसाेलेशन में नहीं मिल रहा निशुल्क इलाज
जिला प्रशासन की ओर से हाेम आइसाेलेशन में रहने वाले काेराेना संक्रमित मरीजाें काे निशुल्क उपचार की सुविधा नहीं दी जा रही। मरीजाें काे दवाइयाें का खर्चा स्वयं ही उठाना पड़ रहा है। इसके अलावा थर्मामीटर व प्लसऑक्सीमीटर तक मरीज खुद ला रहे हैं। जबकि राज्य सरकार की ओर से निशुल्क चिकित्सा व्यवस्था देने के निर्देश हैं। लेकिन शहर में होम क्वारेंटाइन किए हुए मरीजों को इलाज का खर्चा स्वयं उठाना पड़ रहा है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Another young man of Corona infected stopped breathing, so far 34 people have lost their lives

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here