in

सूर्य आग के छल्ले में बदला, अनूपगढ़ सहित कई शहरों में दिखा सूर्य ग्रहण का अद्भुत नजारा

साल के सबसे बड़ दिन रविवार कोभारत सहित विभिन्न देशों मेंइस साल का पहला सूर्य ग्रहण दिखाई दिया। खास बात ये है कि देशभर में सबसे पहले सूर्यग्रहण राजस्थान मेंश्रीगंगानगर तथाहनुमानगढ़ जिले में दिखाई दिया। यहां विभिन्न गांवों और कस्बों में सूर्य संपूर्ण वलयाकार (रिंग ऑफ फायर यानी आग के छल्ले के रूप में) दिखाई दिया।यानी सूरज का अंदर का पूरा हिस्सा काला हो गया। लंबे समय बाद यह मौका आया, जब श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ के ग्रामीण इस पूर्ण सूर्यग्रहण के साक्षी बने। श्रीगंगानगर शहर में सूर्य ग्रहण की शुरुआत सुबह 10:15 बजे हुई। दोपहर 11:53 बजे सूर्य ग्रहण अपनी अधिकतम अवस्था प्राप्त की। दोपहर 1:39 बजे तक ग्रहण का असर है।सूरतगढ़, घड़साना, पतरोड़ा में सूर्यग्रहण को देखने के लिए दिल्ली, पुणे, हैदराबाद सहित कई शहरों से विद्यार्थी और विज्ञानी पहुंचे। शनिवार को ही उन्होंने वहां ऊंचाई वाली जगहों पर अपने कैमरे व अन्य यंत्र स्थापित कर लिए थे। वहीं जयपुर अजमेर, धौलपुर में भी सूर्य ग्रहण दिखाई दिया।आज साल का सबसे बड़ा दिन भीरविवार को साल का सबसे बड़ा दिन 13.38 घंटे का और रात सबसे छोटी है। सूर्य क्रांति से सूर्य उत्तरायण से दक्षिणायन की ओर जाएगा। इस यात्रा में दोपहर 12:28 बजे ऐसी स्थिति आएगी जब किरणें एकदम लंबवत होने से किसी भी चीज की परछाई कुछ क्षण के लिए नहीं दिखेगी। सूर्य की दक्षिणायन यात्रा शुरू हो जाने से 22 जून से दिन छोटे होते जाएंगे तथा रात बड़ी होगी। 23 सितंबर वह दिन होगा जब दिन और रात बराबर अवधि के होंगे।इनपुट व फोटो वीडियो : जवाहर भास्कर, मुकेश परिहार
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

अनूपगढ़। यहां सबसे पहले सूर्य ग्रहण दिशाई दिया। सूर्य चांद की शक्ल में नजर आया। फोटो जवाहर भास्कर

साल के सबसे बड़ दिन रविवार कोभारत सहित विभिन्न देशों मेंइस साल का पहला सूर्य ग्रहण दिखाई दिया। खास बात ये है कि देशभर में सबसे पहले सूर्यग्रहण राजस्थान मेंश्रीगंगानगर तथाहनुमानगढ़ जिले में दिखाई दिया। यहां विभिन्न गांवों और कस्बों में सूर्य संपूर्ण वलयाकार (रिंग ऑफ फायर यानी आग के छल्ले के रूप में) दिखाई दिया।

यानी सूरज का अंदर का पूरा हिस्सा काला हो गया। लंबे समय बाद यह मौका आया, जब श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ के ग्रामीण इस पूर्ण सूर्यग्रहण के साक्षी बने। श्रीगंगानगर शहर में सूर्य ग्रहण की शुरुआत सुबह 10:15 बजे हुई। दोपहर 11:53 बजे सूर्य ग्रहण अपनी अधिकतम अवस्था प्राप्त की। दोपहर 1:39 बजे तक ग्रहण का असर है।

सूरतगढ़, घड़साना, पतरोड़ा में सूर्यग्रहण को देखने के लिए दिल्ली, पुणे, हैदराबाद सहित कई शहरों से विद्यार्थी और विज्ञानी पहुंचे। शनिवार को ही उन्होंने वहां ऊंचाई वाली जगहों पर अपने कैमरे व अन्य यंत्र स्थापित कर लिए थे। वहीं जयपुर अजमेर, धौलपुर में भी सूर्य ग्रहण दिखाई दिया।

आज साल का सबसे बड़ा दिन भी

रविवार को साल का सबसे बड़ा दिन 13.38 घंटे का और रात सबसे छोटी है। सूर्य क्रांति से सूर्य उत्तरायण से दक्षिणायन की ओर जाएगा। इस यात्रा में दोपहर 12:28 बजे ऐसी स्थिति आएगी जब किरणें एकदम लंबवत होने से किसी भी चीज की परछाई कुछ क्षण के लिए नहीं दिखेगी। सूर्य की दक्षिणायन यात्रा शुरू हो जाने से 22 जून से दिन छोटे होते जाएंगे तथा रात बड़ी होगी। 23 सितंबर वह दिन होगा जब दिन और रात बराबर अवधि के होंगे।

इनपुट व फोटो वीडियो : जवाहर भास्कर, मुकेश परिहार

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


अनूपगढ़। यहां सबसे पहले सूर्य ग्रहण दिशाई दिया। सूर्य चांद की शक्ल में नजर आया। फोटो जवाहर भास्कर

Avatar

Written by MTTV INDIA

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

154 नए पॉजिटिव केस सामने आए, 4 की मौत; कोरोना के बढ़ते केसों के कारण एक जुलाई से मेट्रो, लो फ्लोर के चलने पर संकट

धौलपुर में सबसे ज्यादा 59 नए मामले सामने आए, जयपुर में 31 और झुंझुनू में 22 संक्रमित; 4 की मौत