मनरेगा श्रमिकों ने किया मसूदा पंचायत समिति पर प्रदर्शन

0
12

पंचायत समिति परिसर में ग्राम पंचायत देवमाली के सैकड़ों मनरेगा श्रमिकों ने विभिन्न मांगों को लेकर प्रदर्शन किया। श्रमिको ने नरेगा कार्य का भुगतान कम आने, मेटों की मनमानी रोकने, मस्टररोल समय पर जारी नही करने की मांग को लेकर नाराजगी जताते हुए पंचायत समिति का घेराव कर विकास अधिकारी के समक्ष विरोध दर्ज कराया।कार्यवाहक विकास अधिकारी अनिल अरोड़ा को शिकायत करते हुए मनरेगा श्रमिकों ने बताया कि मेट कार्यस्थल पर पूरा काम करवाते हैं फिर भी उनका पूरा भुगतान नहीं आता है। दो मेटों द्वारा श्रमिको से कार्य पर लगाने के नाम पर, जेसीबी चलाने के नाम पर वसूली की जाती है। जो पैसे नही देते उनका नाम मस्टररोल से काट दिया जाता है।पंचायत समिति प्रशासन भी उन्ही दोनो मेटों को लगाने पर अड़ा हुआ है। ग्रामीणों ने पंचायत समिति प्रशासन पर दबाव में काम करने का आरोप लगाते हुए दबाव का स्रोत बताने की मांग की। दबाव के चलते ग्राम पंचायत में मस्टररोल भी जारी नही हो पाए। जिससे ग्रामीणों को रोजगार नहीं मिल पा रहा हे।कार्यवाहक विकास अधिकारी अनिल अरोड़ा ने बताया कि ग्राम देवपुरा में मस्टररोल जारी नहीं होने व देवमाली में मेट बदलने की मांग के चलते वहा लेबर नहीं लग पाई। मनरेगा श्रमिकों द्वारा लिखित शिकायत दी गई है। जिस जांच करवाई जाएगी एव श्रमिकों की समस्याओ का समाधान किया जाएगा।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

MNREGA workers demonstrated on Masuda Panchayat Samiti

पंचायत समिति परिसर में ग्राम पंचायत देवमाली के सैकड़ों मनरेगा श्रमिकों ने विभिन्न मांगों को लेकर प्रदर्शन किया। श्रमिको ने नरेगा कार्य का भुगतान कम आने, मेटों की मनमानी रोकने, मस्टररोल समय पर जारी नही करने की मांग को लेकर नाराजगी जताते हुए पंचायत समिति का घेराव कर विकास अधिकारी के समक्ष विरोध दर्ज कराया।

कार्यवाहक विकास अधिकारी अनिल अरोड़ा को शिकायत करते हुए मनरेगा श्रमिकों ने बताया कि मेट कार्यस्थल पर पूरा काम करवाते हैं फिर भी उनका पूरा भुगतान नहीं आता है। दो मेटों द्वारा श्रमिको से कार्य पर लगाने के नाम पर, जेसीबी चलाने के नाम पर वसूली की जाती है। जो पैसे नही देते उनका नाम मस्टररोल से काट दिया जाता है।

पंचायत समिति प्रशासन भी उन्ही दोनो मेटों को लगाने पर अड़ा हुआ है। ग्रामीणों ने पंचायत समिति प्रशासन पर दबाव में काम करने का आरोप लगाते हुए दबाव का स्रोत बताने की मांग की। दबाव के चलते ग्राम पंचायत में मस्टररोल भी जारी नही हो पाए। जिससे ग्रामीणों को रोजगार नहीं मिल पा रहा हे।

कार्यवाहक विकास अधिकारी अनिल अरोड़ा ने बताया कि ग्राम देवपुरा में मस्टररोल जारी नहीं होने व देवमाली में मेट बदलने की मांग के चलते वहा लेबर नहीं लग पाई। मनरेगा श्रमिकों द्वारा लिखित शिकायत दी गई है। जिस जांच करवाई जाएगी एव श्रमिकों की समस्याओ का समाधान किया जाएगा।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


MNREGA workers demonstrated on Masuda Panchayat Samiti

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here