द. कोरिया के खिलाफ पर्चे के जरिए बड़े पैमाने पर कार्रवाई की तैयारी, कुछ दिन पहले किम जोंग उन के विरोध में पर्चे भेजे गए थे

0
69

उत्तर कोरिया अब पर्चे के जरिए दक्षिण कोरिया के खिलाफ अभियान शुरू करने की तैयारी कर रहा है। देश की सरकारी मीडिया केसीएनए ने शनिवार को ये जानकारी दी। दोनों देशों के बीच पिछले कुछ दिनों में तनाव बढ़ गए हैं। दरअसल, द. कोरिया के कुछ प्रदर्शनकारी उ. कोरिया की नीतियों की आलोचना करते हुए प्रोपेगेंडा चला रहे हैं। साथ ही किम जोंग उन केविरोधी पर्चे बैलून के जरिए उ. कोरिया सीमा में भेजे जा रहे हैं।उत्तर कोरिया की ओर से इसकी तीखी आलोचना की गई है। उत्तर कोरिया ने 16 जून को द. कोरिया से सभी तरह का संपर्क बंद करने की घोषणा की थी। साथ ही कहा था, ‘‘हम द. कोरिया से जुड़ी हॉटलाइन समेत सभी कम्युनिकेशन लाइनें बंद कर रहे हैं। वह अब हमारा दुश्मन देश है।’’ इसके साथ ही 16 जून को केयसोंग शहर स्थित ऑफिस को बम से उड़ा दिया था। यह ऑफिस दोनों देशों के बीच अच्छे संबंध कायम करने के लिए 2018 में खोला गया था।अंतर-कोरियाई स्थलों पर सैनिक तैनात करने की धमकीउत्तर कोरिया ने धमकी दी थी कि वह अंतर-कोरियाई स्थलों पर फिर से अपनी सैनिकों की तैनाती करेगा।रोडोंग सिनमुन अखबार में शनिवार को दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन की एक फोटो प्रकाशित की गई है, जिसमें उनके चेहरे पर सिगरेट केबट बिखरे हुए दिख रहे हैं। साथ ही लोगों को द. कोरिया के खिलाफ पर्चे तैयार करते देखा जा रहा है।उत्तर कोरिया के लोग द. कोरिया के खिलाफ पर्चे तैयार कर रहे हैं। (सोर्स-रोडोंग सिनमुन अखबार)उ. कोरिया के लोगों में नाराजगीअखबार में कहा गया है कि हमारे सर्वोच्च नेतृत्व की गरिमा को चोट पहुंचाने और पूरे कोरियाई लोगों का अपमान करने के खिलाफ उ. कोरिया के लोगों में नाराजगी है। वे जवाबी कार्रवाई करने की तैयारी में लग गए हैं। उ. कोरिया के यूनिवर्सिटी छात्र दोनों देशों के सीमा पर पर्चे बांटने की तैयारी में हैं। अखबार में कहा गया है कि प्रत्येक क्रिया के बराबर उचित प्रतिक्रिया किया जाना चाहिए। तभी उन्हें महसूस होगा कि यह कितना अपमानजनक है। द. कोरिया के अधिकारियों को बेहद बुरे हालातका सामना करना पड़ेगा।उत्तर कोरिया में लोगों ने दक्षिण कोरिया विरोधी पर्चे तैयार किए।(सोर्स-रोडोंग सिनमुन अखबार)उ. कोरिया विरोधी पर्चे भेजने पर 2 लोगों के खिलाफ केस दर्जहालांकि, कुछ घंटों के बाद द. कोरिया ने इस कदम को अफसोसजनक बताया औरउ. कोरिया से तत्काल इस योजना को वापस लेने का आग्रह किया। द. कोरिया ने पिछले हफ्ते उ. कोरिया को नाराज करने वाले पर्चे भेजने के खिलाफ दो लोगों पर केस भी दर्ज कराया था। साथ ही विरोधी पर्चे भेजने वाले कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी थी।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

उ. कोरिया के अखबार में शनिवार को द. कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन की एक फोटो छापी गई, जिसमें उनके चेहरे पर सिगरेट के बट बिखरे नजर आए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here