काेराेना शहर के हर हिस्से में पहुंचा, प्रशासन ने कहा कम्युनिटी स्प्रेड नहीं क्योंकि ज्यादातर पॉजिटिव के संपर्क वाले या प्रवासी

0
18

बीकानेर में 29 नए पाॅजिटिव रिपाेर्ट हाेने के साथ ही जहां एक दिन में अब तक के सबसे ज्यादा राेगी सामने अाए हैं वहीं ये राेगी शहर के अलग-अलग हिस्साें में रिपाेर्ट हुए हैं। ऐसे में काेराेना के कम्युनिटी स्प्रेड की आशंका काे बल मिला है लेकिन प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग अभी इसे कम्युनिटी स्प्रेड की श्रेणी में नहीं मानते।इसके पीछे तर्क यह है कि जितने भी राेगी रिपाेर्ट हुए हैं वे पहले से पाॅजिटिव व्यक्तियाें के संपर्क वाले हैं या कहीं बाहर जाकर आए हैं। इसलिए लाेगाें काे डरने की जरूरत नहीं है लेकिन सतर्क अत्यधिक रहना हाेगा। शुक्रवार काे रिपाेर्ट हुए राेगियाें में एक महिला कांस्टेबल भी है जाे पीबीएम हाॅस्पिटल चाैकी पर तैनात है। बीकानेर में यह पहली पुलिसकर्मी है जाे इस बीमारी की चपेट में आई है।काेराेना के कम्युनिटी स्प्रेड नहीं हाेने के प्रशासन के तर्क की तस्दीक राेगियाें की सूची से भी हाेती है जिसमें सर्वाधिक 10 पाॅजिटिव महावताें के माेहल्ले के हैं जहां एक पाॅजिटिव कैंसर राेगी की माैत हाे चुकी है।इसीसे सटते मदीना मस्जिद या श्रीराम मार्केट के दाे युवक पाॅजिटिव आए हैं। ये कैंसर हाॅस्पिटल में पाॅजिटिव आ चुके तीन वार्ड-ब्वाॅय, कम्प्यूटर ऑपरेटर के संपर्क वाले हैं। सींथल में आए लाेगाें की ट्रेवल हिस्ट्री हैं इनमें से एक गर्भवती पहले से पीबीएम हाॅस्पिटल में भर्ती थी। बापू कालाेनी में ट्रेवल हिस्ट्री वाले पाॅजिटिव युवक के संपर्क वाले ही दाे बच्चे बीमारी की चपेट में आए हैं।सीएमएचओ डा.बी.एल.मीणा, डिप्टी सीएमएचओ डा.याेगेन्द्र तनेजा, एपिडेमियाेलाेजिस्ट नीलमप्रतापसिंह आदि की टीम ने सभी पाॅजिटिव राेगियाें की तलाशकर देर रात तक पीबीएम काेविड हाॅस्पिटल पहुंचा दिया। डा.मीणा का कहना है, हालांकि एक दिन में ज्यादा राेगी आए हैं लेकिन ये कम्युनिटी स्प्रेड के संकेत नहीं।नए रोगी यहां10-माेहल्ला महावतान से जहां एक पाॅजिटिव कैंसर राेगी की माैत हाे गई थी, 07-सींथल गांव से जहां एक भर्ती महिला भी पाॅजिटिव, 2-बापू काॅलाेनी से जहां का युवक दाे दिन पहले पाॅजिटिव अाया। 7- बेणीसर बारी, एमएम स्कूल, नयाशहर थाना, चूनगराें का माेहल्ला, महावीर काॅलाेनी, सुदर्शना नगर, मुक्ताप्रसाद काॅलाेनी से अाए, 2-काेटगेट श्रीराम मार्केट से सटता एरिया, कैंसर हाॅस्पिटल में कार्यरत यहां के तीन युवक पहले हाे चुक हैं पाॅजिटिव, 1. महिला पुलिस काॅलाेनी, बीछवालये चार बने एक्टिव हाॅट स्पाॅट1. महावताें का माेहल्ला, 2. माेहल्ला व्यापारियान, 3. मदीना मस्जिद, श्रीराम मार्केट के पास, 4. सींथलभास्कर सलाह, अपनी सुरक्षा खुद करें हर इलाके में पाॅजिटिव रिपाेर्ट हाे चुके हैं। काेई, कहीं भी, किसी भी पाॅजिटिव से संपर्क में अा सकता है। सतर्क हाे जाएं। मास्क के बगैर किसी भी हालत में बाहर न निकलें। भीड़ में न जाएं। दूरी मेंटेन रखे। जितना जरूरी हाे उतना ही बाहर निकलें।कार्यस्थल पर भी डिस्टेंस-मास्क मेंटेन रखें। किसी काे भी यह संदेह हाे कि पाॅजिटिव के संपर्क में अा गया है ताे सबसे पहले खुद काे घर में ही अाइसाेलेट कर लें। बीमारी के लक्षण लगें ताे तुरंत जांच करवा लें।कैंप लगाकर छिपे राेगी बाहर लाए हैं, यह डर का नहीं सतर्कता का समय : गाैतमबीकानेर जिला कलेक्टर कुमारपाल गाैतम का कहना है, माना एक दिन में सर्वाधिक राेगी रिपाेर्ट हुए हैं लेकिन यह डर की बात नहीं है। वजह, ये सभी लाेग पहले से घराें में साेसायटी में माैजूद थे जिनकी कैंप लगाकर जांच की। पाॅजिटिव हुए ताे हाॅस्पिटल में रखा है। ऐसे में बस, लाेग सतर्क रहें और किसी पाॅजिटिव के संपर्क में आए हैं तो खुद बताएं।यह काेराेना काे खदेड़ने में सहायक हाेगा। अच्छी बात यह है कि अधिकांश राेगियाें में बीमारी की गंभीरता नहीं है मतलब यह कि एसिम्टाेमैटिक है। हमारे यहां वैसे भी राेगी ठीक हाेने का रेसियाे प्रदेश और देश में बाकी जगहाें से बेहतर है।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Caraina reached every part of the city, administration said, not community spread because most positive contacts or expatriates

बीकानेर में 29 नए पाॅजिटिव रिपाेर्ट हाेने के साथ ही जहां एक दिन में अब तक के सबसे ज्यादा राेगी सामने अाए हैं वहीं ये राेगी शहर के अलग-अलग हिस्साें में रिपाेर्ट हुए हैं। ऐसे में काेराेना के कम्युनिटी स्प्रेड की आशंका काे बल मिला है लेकिन प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग अभी इसे कम्युनिटी स्प्रेड की श्रेणी में नहीं मानते।

इसके पीछे तर्क यह है कि जितने भी राेगी रिपाेर्ट हुए हैं वे पहले से पाॅजिटिव व्यक्तियाें के संपर्क वाले हैं या कहीं बाहर जाकर आए हैं। इसलिए लाेगाें काे डरने की जरूरत नहीं है लेकिन सतर्क अत्यधिक रहना हाेगा। शुक्रवार काे रिपाेर्ट हुए राेगियाें में एक महिला कांस्टेबल भी है जाे पीबीएम हाॅस्पिटल चाैकी पर तैनात है। बीकानेर में यह पहली पुलिसकर्मी है जाे इस बीमारी की चपेट में आई है।

काेराेना के कम्युनिटी स्प्रेड नहीं हाेने के प्रशासन के तर्क की तस्दीक राेगियाें की सूची से भी हाेती है जिसमें सर्वाधिक 10 पाॅजिटिव महावताें के माेहल्ले के हैं जहां एक पाॅजिटिव कैंसर राेगी की माैत हाे चुकी है।

इसीसे सटते मदीना मस्जिद या श्रीराम मार्केट के दाे युवक पाॅजिटिव आए हैं। ये कैंसर हाॅस्पिटल में पाॅजिटिव आ चुके तीन वार्ड-ब्वाॅय, कम्प्यूटर ऑपरेटर के संपर्क वाले हैं। सींथल में आए लाेगाें की ट्रेवल हिस्ट्री हैं इनमें से एक गर्भवती पहले से पीबीएम हाॅस्पिटल में भर्ती थी। बापू कालाेनी में ट्रेवल हिस्ट्री वाले पाॅजिटिव युवक के संपर्क वाले ही दाे बच्चे बीमारी की चपेट में आए हैं।

सीएमएचओ डा.बी.एल.मीणा, डिप्टी सीएमएचओ डा.याेगेन्द्र तनेजा, एपिडेमियाेलाेजिस्ट नीलमप्रतापसिंह आदि की टीम ने सभी पाॅजिटिव राेगियाें की तलाशकर देर रात तक पीबीएम काेविड हाॅस्पिटल पहुंचा दिया। डा.मीणा का कहना है, हालांकि एक दिन में ज्यादा राेगी आए हैं लेकिन ये कम्युनिटी स्प्रेड के संकेत नहीं।

नए रोगी यहां

10-माेहल्ला महावतान से जहां एक पाॅजिटिव कैंसर राेगी की माैत हाे गई थी, 07-सींथल गांव से जहां एक भर्ती महिला भी पाॅजिटिव, 2-बापू काॅलाेनी से जहां का युवक दाे दिन पहले पाॅजिटिव अाया। 7- बेणीसर बारी, एमएम स्कूल, नयाशहर थाना, चूनगराें का माेहल्ला, महावीर काॅलाेनी, सुदर्शना नगर, मुक्ताप्रसाद काॅलाेनी से अाए, 2-काेटगेट श्रीराम मार्केट से सटता एरिया, कैंसर हाॅस्पिटल में कार्यरत यहां के तीन युवक पहले हाे चुक हैं पाॅजिटिव, 1. महिला पुलिस काॅलाेनी, बीछवाल

ये चार बने एक्टिव हाॅट स्पाॅट

1. महावताें का माेहल्ला, 2. माेहल्ला व्यापारियान, 3. मदीना मस्जिद, श्रीराम मार्केट के पास, 4. सींथल

भास्कर सलाह, अपनी सुरक्षा खुद करें
हर इलाके में पाॅजिटिव रिपाेर्ट हाे चुके हैं। काेई, कहीं भी, किसी भी पाॅजिटिव से संपर्क में अा सकता है। सतर्क हाे जाएं। मास्क के बगैर किसी भी हालत में बाहर न निकलें। भीड़ में न जाएं। दूरी मेंटेन रखे। जितना जरूरी हाे उतना ही बाहर निकलें।

कार्यस्थल पर भी डिस्टेंस-मास्क मेंटेन रखें। किसी काे भी यह संदेह हाे कि पाॅजिटिव के संपर्क में अा गया है ताे सबसे पहले खुद काे घर में ही अाइसाेलेट कर लें। बीमारी के लक्षण लगें ताे तुरंत जांच करवा लें।

कैंप लगाकर छिपे राेगी बाहर लाए हैं, यह डर का नहीं सतर्कता का समय : गाैतम
बीकानेर जिला कलेक्टर कुमारपाल गाैतम का कहना है, माना एक दिन में सर्वाधिक राेगी रिपाेर्ट हुए हैं लेकिन यह डर की बात नहीं है। वजह, ये सभी लाेग पहले से घराें में साेसायटी में माैजूद थे जिनकी कैंप लगाकर जांच की। पाॅजिटिव हुए ताे हाॅस्पिटल में रखा है। ऐसे में बस, लाेग सतर्क रहें और किसी पाॅजिटिव के संपर्क में आए हैं तो खुद बताएं।

यह काेराेना काे खदेड़ने में सहायक हाेगा। अच्छी बात यह है कि अधिकांश राेगियाें में बीमारी की गंभीरता नहीं है मतलब यह कि एसिम्टाेमैटिक है। हमारे यहां वैसे भी राेगी ठीक हाेने का रेसियाे प्रदेश और देश में बाकी जगहाें से बेहतर है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Caraina reached every part of the city, administration said, not community spread because most positive contacts or expatriates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here