अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सेवा देने में पास, लेकिन देश में फेल हुआ जयपुर एयरपोर्ट, वर्ल्ड रैंकिंग में 89 से 66वें पायदान पर फिसला

0
15

(शिवांग चतुर्वेदी)। जयपुर एयरपोर्ट की एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल द्वारा किए गए सर्वे में काफी खराब परफॉर्मेंस रही है। सर्विस क्वालिटी की कसौटी पर हवाई यात्रियों ने जयपुर एयरपोर्ट को सिरे से नकार दिया है। इसके लिए एयरपोर्ट प्रशासन भले ही फ्लाइट की संख्या में कटौती को वजह बता रहा हो, लेकिन वास्तविकता एयरपोर्ट प्रशासन की लापरवाही ही है। इस बात की पुष्टि इससे होती है कि इन दिनों जब 43 डिग्री से ज्यादा गर्मी सेलोगपरेशान हैं तब जयपुर एयरपोर्ट के बाहर यात्रियों के परिजनों को पीने को ठंडा पानी भी नहीं मिल रहा है।स्टाफ कैंटीन बंद, स्टाफ को नहीं मिल रही चाय-काफीएयरपोर्ट पर 25 मई से जब से फ्लाइट्स का संचालन शुरू हुआ है, तभी से एयरपोर्ट की स्टाफ कैंटीन बंद है। स्टाफ कैंटीन बंद होने से एयरपोर्ट स्टाफ को खान-पान की सुविधा तक नहीं मिल रही है। एयरलाइंस के कर्मचारियों, एयरपोर्ट अथॉरिटी से जुड़े अफसरों और सीआईएसएफ के सुरक्षा जवानों को एयरपोर्ट पर चाय-कॉफी भी नहीं मिल पा रही है।कैंटीन के बंद रहने से यात्रियों को भी परेशानी हो रही है। एयरपोर्ट के पोर्च एरिया और पार्किंग क्षेत्र में यात्रियों और उनके परिजनों को पीने को भी पानी नहीं मिल पा रहा है। कैंटीन में बिकने वाला पैकेज्ड ड्रिंकिंग वॉटर नहीं मिल पा रहा है। इसके अलावा एयरपोर्ट के पोर्च क्षेत्र में एकमात्र कॉफी स्टोर भी इन दिनों बंद है। पार्किंग लॉन में मौजूद वॉटर कूलर की लंबे समय से सफाई नहीं हुई है, ऐसे में लोगों को गंदा पानी पीने के लिए मजबूत होना पड़ रहा है।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

जयपुर। 25 मई को फ्लाइट्स संचालन के पहले दिन से ही एयरपोर्ट की स्टाफ कैंटीन बंद है। इससे अफसरों और सीआईएसएफ के सुरक्षा जवानों को एयरपोर्ट पर चाय-कॉफी भी नहीं मिल पा रही है।

(शिवांग चतुर्वेदी)। जयपुर एयरपोर्ट की एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल द्वारा किए गए सर्वे में काफी खराब परफॉर्मेंस रही है। सर्विस क्वालिटी की कसौटी पर हवाई यात्रियों ने जयपुर एयरपोर्ट को सिरे से नकार दिया है। इसके लिए एयरपोर्ट प्रशासन भले ही फ्लाइट की संख्या में कटौती को वजह बता रहा हो, लेकिन वास्तविकता एयरपोर्ट प्रशासन की लापरवाही ही है। इस बात की पुष्टि इससे होती है कि इन दिनों जब 43 डिग्री से ज्यादा गर्मी सेलोगपरेशान हैं तब जयपुर एयरपोर्ट के बाहर यात्रियों के परिजनों को पीने को ठंडा पानी भी नहीं मिल रहा है।

स्टाफ कैंटीन बंद, स्टाफ को नहीं मिल रही चाय-काफी

एयरपोर्ट पर 25 मई से जब से फ्लाइट्स का संचालन शुरू हुआ है, तभी से एयरपोर्ट की स्टाफ कैंटीन बंद है। स्टाफ कैंटीन बंद होने से एयरपोर्ट स्टाफ को खान-पान की सुविधा तक नहीं मिल रही है। एयरलाइंस के कर्मचारियों, एयरपोर्ट अथॉरिटी से जुड़े अफसरों और सीआईएसएफ के सुरक्षा जवानों को एयरपोर्ट पर चाय-कॉफी भी नहीं मिल पा रही है।

कैंटीन के बंद रहने से यात्रियों को भी परेशानी हो रही है। एयरपोर्ट के पोर्च एरिया और पार्किंग क्षेत्र में यात्रियों और उनके परिजनों को पीने को भी पानी नहीं मिल पा रहा है। कैंटीन में बिकने वाला पैकेज्ड ड्रिंकिंग वॉटर नहीं मिल पा रहा है। इसके अलावा एयरपोर्ट के पोर्च क्षेत्र में एकमात्र कॉफी स्टोर भी इन दिनों बंद है। पार्किंग लॉन में मौजूद वॉटर कूलर की लंबे समय से सफाई नहीं हुई है, ऐसे में लोगों को गंदा पानी पीने के लिए मजबूत होना पड़ रहा है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


जयपुर। 25 मई को फ्लाइट्स संचालन के पहले दिन से ही एयरपोर्ट की स्टाफ कैंटीन बंद है। इससे अफसरों और सीआईएसएफ के सुरक्षा जवानों को एयरपोर्ट पर चाय-कॉफी भी नहीं मिल पा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here