तीन सीटों के लिए मतदान जारी, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने डाला वोट; कांग्रेस की 2 और भाजपा की 1 सीट पर जीत तय

0
14

राजस्थान में राज्यसभा की 3 सीटों के लिए मतदान जारी है। सबसे पहले भाजपा व उसके सहयोगी बस से विधानसभा पहुंचे। इसके बाद कांग्रेस केविधायक बसों से विधानसभा पहुंचना शुरू हुए।कांग्रेस की ओर से सबसे पहला वोट मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने डाला। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट सहित 90 विधायक वोट डाल चुके हैं। इससे पहले कांग्रेस विधायक बसों के जरिए होटल से सीधे विधानसभा पहुंचे। 10.45 मिनट तक पांच बसेंकांग्रेस विधायकों को लेकर विधानसभा पहुंच गई थीं। एक बस आनी शेष है।मुख्यमंत्री अशोक विधायकों के साथ ही विधानसभा पहुंचे। विधानसभा पहुंचने पर सभी की स्क्रीनिंग की गई।शाम5 बजे से मतों की गिनती होगी। संख्या बल के हिसाब से कांग्रेस की दो और भाजपा की एक सीट पर जीत लगभग तय है। हालांकि, दोनों ही दलों ने दो-दो प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं। कांग्रेस ने पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और नीरज डांगी को प्रत्याशी बनाया है, जबकि भाजपा ने राजेन्द्र गहलोत और और ओंकार सिंह लखावत पर दांव खेला है। भाजपा की दलगत स्थितियों को देखते हुए केवल राजेंद्र गहलोत की ही जीत हो पाएगी। सबसे अधिक दिलचस्प यह है कि विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी वोट देंगे या नहीं।यूं समझें…वोटों का गणितकांग्रेस के 107 विधायक हैं। 13 निर्दलियों, दो बीटीपी, दो माकपा व एक आरएलडी विधायक का उसे समर्थन है। कुल मिलाकर कांग्रेस के 125 वोट हैं। इनमें से सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल अस्वस्थ हैं, जबकि विधायक वाजिब अली विदेश में हैं। ऐसे में उनके वोट डालने पर संदेह है। स्पीकर सीपी जोशी भी शायद ही मतदान करें।इसके बावजूद कांग्रेस के पास 122 वोट होंगे। एक प्रत्याशी की जीत के लिए 51 वोट की जरूरत है। ऐसे में दोनों प्रत्याशियों की जीत के लिए 102 वोट चाहिए, जो कांग्रेस के पास हैं। दूसरी ओर भाजपा के 72 विधायक हैं। आरएलपी के तीन विधायक भी पक्ष में मतदान करेंगे। ऐसे में भाजपा के कुल वोट 75 हाेते हैं। इस कारण भाजपा का एक ही प्रत्याशी जीत पाएगा और पार्टी की वरीयता के हिसाब से राजेंद्र गहलोत की जीत होगी।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

जयपुर। विधानसभा में मतदान से पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हाथों में सैनिटाइजर लगाते हुए।

राजस्थान में राज्यसभा की 3 सीटों के लिए मतदान जारी है। सबसे पहले भाजपा व उसके सहयोगी बस से विधानसभा पहुंचे। इसके बाद कांग्रेस केविधायक बसों से विधानसभा पहुंचना शुरू हुए।कांग्रेस की ओर से सबसे पहला वोट मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने डाला। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट सहित 90 विधायक वोट डाल चुके हैं। इससे पहले कांग्रेस विधायक बसों के जरिए होटल से सीधे विधानसभा पहुंचे। 10.45 मिनट तक पांच बसेंकांग्रेस विधायकों को लेकर विधानसभा पहुंच गई थीं। एक बस आनी शेष है।मुख्यमंत्री अशोक विधायकों के साथ ही विधानसभा पहुंचे। विधानसभा पहुंचने पर सभी की स्क्रीनिंग की गई।

शाम5 बजे से मतों की गिनती होगी। संख्या बल के हिसाब से कांग्रेस की दो और भाजपा की एक सीट पर जीत लगभग तय है। हालांकि, दोनों ही दलों ने दो-दो प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं। कांग्रेस ने पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और नीरज डांगी को प्रत्याशी बनाया है, जबकि भाजपा ने राजेन्द्र गहलोत और और ओंकार सिंह लखावत पर दांव खेला है। भाजपा की दलगत स्थितियों को देखते हुए केवल राजेंद्र गहलोत की ही जीत हो पाएगी। सबसे अधिक दिलचस्प यह है कि विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी वोट देंगे या नहीं।

यूं समझें…वोटों का गणित
कांग्रेस के 107 विधायक हैं। 13 निर्दलियों, दो बीटीपी, दो माकपा व एक आरएलडी विधायक का उसे समर्थन है। कुल मिलाकर कांग्रेस के 125 वोट हैं। इनमें से सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल अस्वस्थ हैं, जबकि विधायक वाजिब अली विदेश में हैं। ऐसे में उनके वोट डालने पर संदेह है। स्पीकर सीपी जोशी भी शायद ही मतदान करें।

इसके बावजूद कांग्रेस के पास 122 वोट होंगे। एक प्रत्याशी की जीत के लिए 51 वोट की जरूरत है। ऐसे में दोनों प्रत्याशियों की जीत के लिए 102 वोट चाहिए, जो कांग्रेस के पास हैं। दूसरी ओर भाजपा के 72 विधायक हैं। आरएलपी के तीन विधायक भी पक्ष में मतदान करेंगे। ऐसे में भाजपा के कुल वोट 75 हाेते हैं। इस कारण भाजपा का एक ही प्रत्याशी जीत पाएगा और पार्टी की वरीयता के हिसाब से राजेंद्र गहलोत की जीत होगी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


जयपुर। विधानसभा में मतदान से पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हाथों में सैनिटाइजर लगाते हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here