उदयपुर सहित प्रदेशभर के वाहनों के परमिट, फिटनेस, आरसी, डीएल सब ऑनलाइन, देशभर में कहीं भी देख सकेंगे डिटेल

0
20

कोरोना वायरस संक्रमण से बचने की चुनौती ने परिवहन विभाग को ऑनलाइन (पेपर-कैशलेस) मोड पर पहुंचा दिया है। प्रादेशिक परिवहन कार्यालय उदयपुर सहित प्रदेशभर के परिवहन कार्यालयों को ऑनलाइन कर दिया गया है। वाहनों के परमिट, फिटनेस, आरसी, चालकों के ड्राइविंग लाइसेंस, चालान आदि को विभाग के पोर्टल वाहन 4.0 और सारथी 4.0 पर दर्ज करा दिया गया है।परिवहन आयुक्त रवि जैन बताते हैं कि उदयपुर सहित प्रदेशभर के वाहनों के परमिट, फिटनेस, आरसी, ड्राइविंग लाइसेंस, चालान आदि से संबंधित जानकारी देशभर में कहीं भी कोई भी ऑनलाइन देख सकेगा। अब हादसों को आमंत्रित करने वाले खटारा वाहनों को तुरंत पकड़ा जा सकेगा।वाहन मालिक भी अपने वाहनों की पूरी जानकारी घर बैठे ऑनलाइन देख सकेंगे। वहीं आवेदकों को परमिट, फिटनेस, आरसी, ड्राइविंग लाइसेंस, चालान आदि कामों के लिए विभाग के कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। क्योंकि यह सभी काम ऑनलाइन कर दिए गए हैं। संबंधित काम के दस्तावेज अपलोड करने और फीस व टैक्स ऑनलाइन जमा कराने के बाद विभाग स्लॉट के आधार पर काम शुरू कर दिए गए हैं।अब आरटीओ कार्यालयों में ना भीड़ जमा हो रही है, नहीं दस्तावेज का भार बढ़ रहा। ऐसे में कोरोना संक्रमण का खतरा काफी हद तक कम हो गया है। परिवहन विभाग अब पे-टीएम और गूगल-पे के जरिए भी चालान वसूली के विकल्प तलाशे जा रहे हैं। संभाग के पांचों जिलों के स्टेट-कॉन्टैक्ट कैरिज, स्कूल-कॉलेज बसों के रिकॉर्ड भी ऑनलाइनडीटीओ कल्पना शर्मा ने बताया कि स्टेट कैरिज बसें उदयपुर में 1088, राजसमंद में 295, बांसवाड़ा में 288, डूंगरपुर में 211 सहित कुल 1882 , कॉन्टैक्ट कैरिज बस उदयपुर में 436, राजसमंद में 66, डूंगरपुर में 66, बांसवाड़ा में 31 सहित कुल 599, एजुकेशनल बस उदयपुर में 910, राजसमंद में 399, बांसवाड़ा में 384 सहित कुल 1693 बसों के रिकॉर्ड को भी ऑनलाइन दर्ज कर दिया गया है। एक लाख वाहन, पांच लाख चालकों का रिकॉर्ड ऑनलाइनउदयपुर, राजसमंद, बांसवाड़ा और डूंगरपुर जिले के करीब एक लाख से ज्यादा वाहनों के आरसी, परमिट, फिटनेस आदि का रिकॉर्ड ऑनलाइन कर दिया गया है। करीब 5.15 लाख चालकों के डीएल से संबंधित रिकॉर्ड भी ऑनलाइन कर दिया गया है। इनसे संबंधित सभी काम ऑनलाइन कर दिए गए हैं।-प्रकाश सिंह राठौड़, आरटीओ, उदयपुरडीएल के लिए ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन प्रादेशिक परिवहन कार्यालय में ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) से जुड़े सभी काम सारथी 4.0 सॉफ्टवेयर में ही किए जा रहे हैं। लर्निंग-स्थायी लाइसेंस, डुप्लीकेट लाइसेंस, नवीनीकरण आदि कार्य के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा। https://parivahan.gov.in में सारथी सर्विसेस पर पहुंच कर ‘ड्राइविंग लाइसेंस रिलेटेड सर्विस’ में एप्लाई ऑनलाइन के तहत ‘न्यू लर्निंग लाइसेंस’ पर क्लिक करें।इसके बाद कंटीन्यू पर क्लिक कर ऑनलाइन फार्म में आवश्यक दस्तावेज अपलोड कर स्लाट बुक करें। इसमें जो तारीख और समय दिया है, उसी दिन कार्यालय पहुंचें, जहां बिना समय गंवाए अगली कार्रवाई की जाएगी।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

प्रतीकात्मक फोटो।

कोरोना वायरस संक्रमण से बचने की चुनौती ने परिवहन विभाग को ऑनलाइन (पेपर-कैशलेस) मोड पर पहुंचा दिया है। प्रादेशिक परिवहन कार्यालय उदयपुर सहित प्रदेशभर के परिवहन कार्यालयों को ऑनलाइन कर दिया गया है। वाहनों के परमिट, फिटनेस, आरसी, चालकों के ड्राइविंग लाइसेंस, चालान आदि को विभाग के पोर्टल वाहन 4.0 और सारथी 4.0 पर दर्ज करा दिया गया है।

परिवहन आयुक्त रवि जैन बताते हैं कि उदयपुर सहित प्रदेशभर के वाहनों के परमिट, फिटनेस, आरसी, ड्राइविंग लाइसेंस, चालान आदि से संबंधित जानकारी देशभर में कहीं भी कोई भी ऑनलाइन देख सकेगा। अब हादसों को आमंत्रित करने वाले खटारा वाहनों को तुरंत पकड़ा जा सकेगा।

वाहन मालिक भी अपने वाहनों की पूरी जानकारी घर बैठे ऑनलाइन देख सकेंगे। वहीं आवेदकों को परमिट, फिटनेस, आरसी, ड्राइविंग लाइसेंस, चालान आदि कामों के लिए विभाग के कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। क्योंकि यह सभी काम ऑनलाइन कर दिए गए हैं। संबंधित काम के दस्तावेज अपलोड करने और फीस व टैक्स ऑनलाइन जमा कराने के बाद विभाग स्लॉट के आधार पर काम शुरू कर दिए गए हैं।

अब आरटीओ कार्यालयों में ना भीड़ जमा हो रही है, नहीं दस्तावेज का भार बढ़ रहा। ऐसे में कोरोना संक्रमण का खतरा काफी हद तक कम हो गया है। परिवहन विभाग अब पे-टीएम और गूगल-पे के जरिए भी चालान वसूली के विकल्प तलाशे जा रहे हैं।

संभाग के पांचों जिलों के स्टेट-कॉन्टैक्ट कैरिज, स्कूल-कॉलेज बसों के रिकॉर्ड भी ऑनलाइन
डीटीओ कल्पना शर्मा ने बताया कि स्टेट कैरिज बसें उदयपुर में 1088, राजसमंद में 295, बांसवाड़ा में 288, डूंगरपुर में 211 सहित कुल 1882 , कॉन्टैक्ट कैरिज बस उदयपुर में 436, राजसमंद में 66, डूंगरपुर में 66, बांसवाड़ा में 31 सहित कुल 599, एजुकेशनल बस उदयपुर में 910, राजसमंद में 399, बांसवाड़ा में 384 सहित कुल 1693 बसों के रिकॉर्ड को भी ऑनलाइन दर्ज कर दिया गया है।

एक लाख वाहन, पांच लाख चालकों का रिकॉर्ड ऑनलाइन
उदयपुर, राजसमंद, बांसवाड़ा और डूंगरपुर जिले के करीब एक लाख से ज्यादा वाहनों के आरसी, परमिट, फिटनेस आदि का रिकॉर्ड ऑनलाइन कर दिया गया है। करीब 5.15 लाख चालकों के डीएल से संबंधित रिकॉर्ड भी ऑनलाइन कर दिया गया है। इनसे संबंधित सभी काम ऑनलाइन कर दिए गए हैं।-प्रकाश सिंह राठौड़, आरटीओ, उदयपुर

डीएल के लिए ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन
प्रादेशिक परिवहन कार्यालय में ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) से जुड़े सभी काम सारथी 4.0 सॉफ्टवेयर में ही किए जा रहे हैं। लर्निंग-स्थायी लाइसेंस, डुप्लीकेट लाइसेंस, नवीनीकरण आदि कार्य के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा। https://parivahan.gov.in में सारथी सर्विसेस पर पहुंच कर ‘ड्राइविंग लाइसेंस रिलेटेड सर्विस’ में एप्लाई ऑनलाइन के तहत ‘न्यू लर्निंग लाइसेंस’ पर क्लिक करें।

इसके बाद कंटीन्यू पर क्लिक कर ऑनलाइन फार्म में आवश्यक दस्तावेज अपलोड कर स्लाट बुक करें। इसमें जो तारीख और समय दिया है, उसी दिन कार्यालय पहुंचें, जहां बिना समय गंवाए अगली कार्रवाई की जाएगी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


प्रतीकात्मक फोटो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here