बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करने के लिए पीआईएल, याचिका में कहा स्टूडेंट्स और उनके परिजनों में भय; सुनवाई गुरुवार को

0
20

(संजीव शर्मा)।राजस्थान प्राइवेट एजुकेशन एंड वेलफेयर सोसाइटी की ओर से हाईकोर्ट में राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित करवाने के लिए पीआईएल दायर हुई है। पीआईएल पर गुरूवार को सुनवाई होगी जिसमें बोर्ड परीक्षाओं पर तत्काल रोक लगाने का आग्रह किया है।दरअसल बोर्ड की परीक्षाएं भी गुरुवार से ही शुरू हो रही हैं। अधिवक्ता शैलेशनाथ सिंह ने बताया की शिक्षा विभाग राज्य में बढ़ते कोराना संक्रमण के बीच परीक्षा आयोजित कर रहा हैं। इससे स्टूडेंट्सतथाउनके परिजनों में भय है और उनमें कोरोना का मानसिक तनाव भी है।स्टूडेंट को परीक्षा के दौरान 4 घंटे तक मास्क में रहना होगागा। वहीं परीक्षा कक्ष में 42 डिग्री टैंपरेचर पर मास्क पहनकर परीक्षा देने से स्टूडेंट की गुणवत्ता भी प्रभावित होगी। इसके अलावा कोरोना संक्रमित मरीजों में फिलहाल लक्षण भी नहीं मिल रहे हैं। ऐसे में शिक्षा विभाग को परीक्षा के दौरान संक्रमित बच्चे की पहचान करना भी मुश्किल होगा। इसलिए बोर्ड परीक्षाओं को फिलहाल स्थगित किया जाए।अवमानना याचिका पर भी सुनवाई गुरुवार कोवहीं पब्लिक अगेंस्ट करप्शन संस्था की ओर से भी बिना तैयारी के बोर्ड परीक्षाओं करवाने के खिलाफ हाईकोर्ट में अवमानना याचिका दायर की है। अवमानना याचिका पर भी गुरूवार को सुनवाई होगी। याचिका में कहा कि अदालत ने 29 मई को 10 वीं 12 वीं की परीक्षा रदद् करवाने संबंधी याचिका निस्तारित करते हुए कहा था कि भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुसार परीक्षाएं करवाई जाएं, लेकिन परीक्षाएं बिना सुविधाएं ही करवाई जा रही हैं। इसलिए अदालती आदेश की अवमानना करने वाले अफसरों व कर्मचारियों के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई की जाए।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

PIL to postpone board examinations, Hearing on thursday

(संजीव शर्मा)।राजस्थान प्राइवेट एजुकेशन एंड वेलफेयर सोसाइटी की ओर से हाईकोर्ट में राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित करवाने के लिए पीआईएल दायर हुई है। पीआईएल पर गुरूवार को सुनवाई होगी जिसमें बोर्ड परीक्षाओं पर तत्काल रोक लगाने का आग्रह किया है।

दरअसल बोर्ड की परीक्षाएं भी गुरुवार से ही शुरू हो रही हैं। अधिवक्ता शैलेशनाथ सिंह ने बताया की शिक्षा विभाग राज्य में बढ़ते कोराना संक्रमण के बीच परीक्षा आयोजित कर रहा हैं। इससे स्टूडेंट्सतथाउनके परिजनों में भय है और उनमें कोरोना का मानसिक तनाव भी है।

स्टूडेंट को परीक्षा के दौरान 4 घंटे तक मास्क में रहना होगागा। वहीं परीक्षा कक्ष में 42 डिग्री टैंपरेचर पर मास्क पहनकर परीक्षा देने से स्टूडेंट की गुणवत्ता भी प्रभावित होगी। इसके अलावा कोरोना संक्रमित मरीजों में फिलहाल लक्षण भी नहीं मिल रहे हैं। ऐसे में शिक्षा विभाग को परीक्षा के दौरान संक्रमित बच्चे की पहचान करना भी मुश्किल होगा। इसलिए बोर्ड परीक्षाओं को फिलहाल स्थगित किया जाए।

अवमानना याचिका पर भी सुनवाई गुरुवार को

वहीं पब्लिक अगेंस्ट करप्शन संस्था की ओर से भी बिना तैयारी के बोर्ड परीक्षाओं करवाने के खिलाफ हाईकोर्ट में अवमानना याचिका दायर की है। अवमानना याचिका पर भी गुरूवार को सुनवाई होगी। याचिका में कहा कि अदालत ने 29 मई को 10 वीं 12 वीं की परीक्षा रदद् करवाने संबंधी याचिका निस्तारित करते हुए कहा था कि भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुसार परीक्षाएं करवाई जाएं, लेकिन परीक्षाएं बिना सुविधाएं ही करवाई जा रही हैं। इसलिए अदालती आदेश की अवमानना करने वाले अफसरों व कर्मचारियों के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई की जाए।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


PIL to postpone board examinations, Hearing on thursday

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here