चीनी सैनिकों से झड़प में जवान गुरबिंदर सिंह शहीद, कुछ दिन पहले ही मंगनी करके ड्यूटी पर लौटा था

0
17

सीमा पर चीनी सैनिकों के साथ झड़प मेंपंजाब के संगरूर का जवान गुरबिंदर सिंह शहीद हो गया। सोमवार की रात चीनी सैनिकों ने धोखा करते हुए भारतीय सैनिकों पर नुकीले हथियारों से हमला कर दिया था। इसके बाद झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए। इन्हीं में से संगरूर का गुरबिंदर सिंह भी था, जो थोड़े दिन पहले ही मंगनी करने के बाद ड्यूटी पर लौटा था। माना जा रहा है कि शहीद का पार्थिव शरीर आने में शायद एक-दो दिन लग जाएंगे।शहादत की खबर मिलने के बाद घर पर शोक जताने पहुंचे परिचित और जानकारी देते भाई गुरप्रीत सिंह (दाईं ओर से पहले केसरिया पगड़ी में)।संगरूर जिले के गांव तोलोवाल निवासी गुरप्रीत सिंह ने बताया कि उसका छोटा भाई गुरबिंदर सिंह वर्ष 2018 में देश की सेवा को समर्पित हुआ था। पंजाब रेजिमेंट का यह जवान थोड़े दिन पहले ही पहली बार लद्दाख में तैनात हुआ था। परिवार गुरबिंदर सिंह की शादी की तैयारियां करने में जुटा था। हाल ही में कुछ दिन पहले जब छुट्‌टी आया तो मंगनी की गई थी।गुरप्रीत ने बताया कि बुधवार सुबह साढ़े बजे पंजाब रेजिमेंट हेडक्वार्टर से फोन आया कि गुरबिंदर सिंह चीनी फौजियों के साथ झड़प में देश के लिए अपनी जान कुर्बान कर गए। इस खबर के बाद न सिर्फ गुरबिंदर सिंह के घर और गांव, बल्कि पूरे संगरूर जिले या यूं कहिए कि पूरे पंजाब में शोक का माहौल है। घर पर शोक जताने वालों का तांता लगा हुआ है। परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार शहीद का पार्थिव शरीर आने में अभी एक-दो दिन लग सकते हैं।
आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

शहीद गुरबिंदर सिंह फाइल फोटो, जो लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में शहीद होने से थोड़े दिन पहले ही मंगनी कराके ड्यूटी पर लौटे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here