केंद्र सरकार ने बीएसएनएल से कहा- 4जी अपग्रेड सिस्टम के लिए चीनी कंपनियों के प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल ना करें

0
17

भारत-चीन सीमा विवाद का असर सरकारी कंपनियों पर नजर आने लगा है। केंद्र सरकार नेभारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) से कहा है कि 4जी संसाधनोंको अपग्रेडकरने के लिए चीन के प्रोडक्ट्स का इस्तेमालपूरी तरह से बंद कर दिया जाए। सूत्रों के मुताबिक, टेलीकॉम डिपार्टमेंट नेसुरक्षा के मद्देनजरयह फैसला लिया।अब टेलीकॉम डिपार्टमेंट4जी सर्विस के अपडेशन के लिए नए सिरे से टेंडर जारी कर सकता है। इसके अलावा केंद्र सरकार इस पर भी विचार कर रही है कि प्रायवेट ऑपरेटरों से भी कहा जाए कि वे भी चीनी कंपनियों के प्रोडक्ट्स पर अपनी निर्भरता कम करें।टेलीकॉम कंपनियां जैसे- भारती एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया फिलहाल हुवेई के साथ काम कर रही हैं जबकि बीएसएनएल जेडटीई के साथ काम करता है। सरकारी सूत्रों का मानना है कि चीनी कंपनियों के प्रोडक्टनेटवर्क सुरक्षाको लेकर हमेशा ही खतरा रहे हैं।लद्दाख सीमा पर भारत और चीन के बीच तनावमोदीसरकार ने यह फैसला ऐसे वक्तमें लिया है जब लद्दाख सीमा पर भारत और चीन के बीच हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। सोमवार रात गलवान घाटी में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। इसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए जबकि चीनी सेना के 43 जवान मारे गए या गंभीर रूप से जख्मी हुए।चीन ने अपनी ओर से इस बारे में कोई बयान जारी नहीं किया।
आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

सूत्रों के मुताबिक, चीनी कंपनियों के प्रोडक्ट्स और रिसोर्स के इस्तेमाल से नेटवर्क सुरक्षा का खतरा बना रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here