10 दिन में रिकवरी रेट 4.61 प्रतिशत घटा, अप्रैल-मई से जून में रोजाना 14 मरीज बढ़े

0
24

(इमरान खान) शायद काेराेना का पीक टाइम आना अभी बाकी है। क्याेंकि मरीज मिलने की दर लाॅकडाउन के मुकाबले अनलाॅक पीरियड में ज्यादा है। राजधानी जयपुर में बीते 15 दिन में 582 मरीज यानी औसतन 39 मरीज राेजाना मिल रहे हैं जबकि अप्रैल में 29 और मई में 35 मरीज राेज मिल रहे थे।बीते 10 दिन में रिकवरी रेट 4.61 फीसदी घटकर 77.70 पर आ गया। जयपुर में अप्रैल, मई के मुकाबले जून में रिकवरी रेट घटी है, जबकि संक्रमण और माैत की दर बढ़ी है।मई तक रिकवरी रेट 81.91 था31 मई तक कुल कोरोना वायरस पाॅजिटिव की संख्या 1991 थी, जबकि 1615 मरीज रिकवर हाे चुके थे, यानी रिकवरी रेटर 81.91 फीसदी था। 6 जून तक रिकवरी रेट बढ़कर 82.31 फीसदी तक भी पहुंच गया। लेकिन इसके बाद नए मामले बढ़ते गए और रिकवरी रेट घटकर 77.70 फीसदी पर आ गया, बीते 15 दिन में 333 मरीज ही ठीक हाे पाए। 15 जून तक 2561 में से 1990 मरीज रिकवर हाे पाए और 15 जून को 438 एक्टिव केस हैं। जून में अब तक 42 माैतें हाे चुकी है।गंभीर केस का डाटा ही नहींकोरोना संक्रमितों की संख्या 15 जून को जयपुर में 90861 पर जा पहुंची। 137 लोगों की कोरोना से मौत हो गई। अब भी जयपुर में 446 एक्टिव केस हैं। इनमें कितने रिकवर होंगे, कितने डिस्चार्ज… इसका आंकड़ा विभाग जारी कर देगा। लेकिन, इन एक्टिव केसेस में कितने केस गंभीर स्थिति में हैं, इसका कोई आंकड़ा जारी नहीं होता।बहरहाल, फिर से संक्रमण फैलने लगा तो रैपिड टेस्ट में तेजी आ गई है। सोमवार को बड़ी चौपड़ पर तंबाकू उत्पादों की दुकानों को भीड़ जुटी तो वहीं कैंप लगाकर सभी मौजूद लोगों के सैंपल लिए।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

जयपुर। शहर में 15 जून तक 438 एक्टिव केस हैं, एक मरीज को लेने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम।

(इमरान खान) शायद काेराेना का पीक टाइम आना अभी बाकी है। क्याेंकि मरीज मिलने की दर लाॅकडाउन के मुकाबले अनलाॅक पीरियड में ज्यादा है। राजधानी जयपुर में बीते 15 दिन में 582 मरीज यानी औसतन 39 मरीज राेजाना मिल रहे हैं जबकि अप्रैल में 29 और मई में 35 मरीज राेज मिल रहे थे।

बीते 10 दिन में रिकवरी रेट 4.61 फीसदी घटकर 77.70 पर आ गया। जयपुर में अप्रैल, मई के मुकाबले जून में रिकवरी रेट घटी है, जबकि संक्रमण और माैत की दर बढ़ी है।

मई तक रिकवरी रेट 81.91 था

31 मई तक कुल कोरोना वायरस पाॅजिटिव की संख्या 1991 थी, जबकि 1615 मरीज रिकवर हाे चुके थे, यानी रिकवरी रेटर 81.91 फीसदी था। 6 जून तक रिकवरी रेट बढ़कर 82.31 फीसदी तक भी पहुंच गया। लेकिन इसके बाद नए मामले बढ़ते गए और रिकवरी रेट घटकर 77.70 फीसदी पर आ गया, बीते 15 दिन में 333 मरीज ही ठीक हाे पाए। 15 जून तक 2561 में से 1990 मरीज रिकवर हाे पाए और 15 जून को 438 एक्टिव केस हैं। जून में अब तक 42 माैतें हाे चुकी है।

गंभीर केस का डाटा ही नहीं

कोरोना संक्रमितों की संख्या 15 जून को जयपुर में 90861 पर जा पहुंची। 137 लोगों की कोरोना से मौत हो गई। अब भी जयपुर में 446 एक्टिव केस हैं। इनमें कितने रिकवर होंगे, कितने डिस्चार्ज… इसका आंकड़ा विभाग जारी कर देगा। लेकिन, इन एक्टिव केसेस में कितने केस गंभीर स्थिति में हैं, इसका कोई आंकड़ा जारी नहीं होता।

बहरहाल, फिर से संक्रमण फैलने लगा तो रैपिड टेस्ट में तेजी आ गई है। सोमवार को बड़ी चौपड़ पर तंबाकू उत्पादों की दुकानों को भीड़ जुटी तो वहीं कैंप लगाकर सभी मौजूद लोगों के सैंपल लिए।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


जयपुर। शहर में 15 जून तक 438 एक्टिव केस हैं, एक मरीज को लेने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here