बालिका आश्रम का बिल पास करवाने की एवज में रिश्वत लेते एडीएम कार्यालय का वरिष्ठ सहायक व दो टीचर गिरफ्तार

0
17

शुभम निमोदिया. जिले में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने मंगलवार को 13हजार रुपए की रिश्वत लेने के मामले में तीन घूसखोर सरकारी कर्मचारियों को गिरफ्तार कर लिया। रिश्वत की यह रकम सहरिया बालिका आश्रम में निमार्णाधीन कार्यों का बिल पास करवाने की एवज में एक कार्यवाहक प्रिंसीपलसे मांगी गई थी। एडिशनल एसपी ठाकुर चंद्रशील कुमार के निर्देशन में यह कार्रवाई पुलिस निरीक्षक दलबीर सिंह फौजदार और टीम ने की। प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि रिश्वत में कुल 25 हजार रुपए की मांग की गई थी। जिसमें से 12 हजार रुपए पहले ही ली जा चुकी थी।एएसपी ठाकुर चंद्रशील कुमार ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी आशीष कुमार शर्मा हाल वरिष्ठ सहायक, अतिरिक्त जिला कलेक्टर एवं परियोजना अधिकारी, सहरिया विकास शाहाबाद है। इसके अलावा दूसरा आरोपी अजय गर्ग हाल वरिष्ठ अध्यापक हाल अधीक्षक सहरिया आश्रम छात्रावास, आगर जिला बारां और तीसरा आरोपी अशोक कुमार शर्मा हाल तृतीय श्रेणी अध्यापक हाल अधीक्षक एकलव्य मॉडल रेजीडेंसिशल स्कूल छात्रावास हनोतिया, शाहबाद जिला बारां है।लॉकडाउन की वजह से नहीं हो सकाथा ट्रेप, 17 फरवरी को दर्ज करवाई थी शिकायतएएसपी ठाकुर चंद्रशील ने बताया किइस संबंध में मोहम्मद इदरीश मंसूरी ने एसीबी में 17 फरवरी को शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि वह एकलव्य मॉडल रेजीडेंसियल स्कूल, हनोतिया में कार्यवाहक प्रधानाचार्य है। जबकि उनकी पत्नी मोबिना बेगमसहरिया बालिका आश्रम छात्रावास शाहबाद में वार्डन है। उसके अक्टूबर 2019 से जनवरी 2020 तक के बिल पास नहीं किए गए तथा परिवादी के स्कूल में संचालित छात्रावास के बिल भी पास नहीं किए गए।एडीएम शाहबाद और सहायक कोषाधिकारी के लिए भी मांगी गई रिश्वत, होगी पूछताछशिकायतकर्ता इदरीस ने बताया कि एडीएम महेंद्र सिंह लोढ़ा ने उनके करीब 1.80 लाख रुपए के बिलों को निरस्त कर दिया था। ऐसे में इन बिलों को पास करवाने की एवज में एडीएम ऑफिस में पदस्थापित वरिष्ठ लिपिक आशीष कुमार शर्मा व अजय गर्ग ने अपने और एडीएम महेंद्र सिंह लोढ़ा के लिए रिश्तव की मांग की। इस शिकायत का सत्यापन 2 मार्च 2020 को करवाया गया। इसके अलावा मोहम्मद इदरीस की पत्नी के स्कूल के बिलों को पास करने की एवज में भी आशीष कुमार शर्मा, अजय कुमार गर्ग ने अपने लिए, एडीएम महेंद्र सिंह लोढ़ा के लिए और ट्रेजरी शाहबाद के एटीओ के लिए कुल 25 हजार रुपयों की मांग की।लॉकडाउन की वजह से नहीं ले सके थे रिश्तव की बकाया रकमएसीबी के सत्यापन में यह सामने आया कि रिश्वत की यह रकम आशीष कुमार शर्मा ने आरोपी अशोक कुमार शर्मा के मार्फत 12 हजार रुपए पहले प्राप्त कर ली गई थी। इसके बाद लॉकडाउन की वजह से रिश्वत की दूसरी किश्त 13 हजार रुपए नहीं ली जा सकी थी। हाल ही में लॉकडाउन में राहत मिलने पर फिर से रिश्वत की बकाया रकम की मांग शुरु कर दी गई। ऐसे में एसीबी के पुलिस इंस्पेक्टरदलबीर फौजदार के नेतृत्व में ट्रेप रचा गया और आज मंगलवार को तीनों आरोपियों को एकलव्य मॉडल रेजीडेंसियल, हनोतिया में 13 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

बारां जिले में रिश्वत लेते पकड़े गए शाहबाद एडीएम कार्यालय के वरिष्ठ सहायक व दो टीचर

शुभम निमोदिया. जिले में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने मंगलवार को 13हजार रुपए की रिश्वत लेने के मामले में तीन घूसखोर सरकारी कर्मचारियों को गिरफ्तार कर लिया। रिश्वत की यह रकम सहरिया बालिका आश्रम में निमार्णाधीन कार्यों का बिल पास करवाने की एवज में एक कार्यवाहक प्रिंसीपलसे मांगी गई थी। एडिशनल एसपी ठाकुर चंद्रशील कुमार के निर्देशन में यह कार्रवाई पुलिस निरीक्षक दलबीर सिंह फौजदार और टीम ने की। प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि रिश्वत में कुल 25 हजार रुपए की मांग की गई थी। जिसमें से 12 हजार रुपए पहले ही ली जा चुकी थी।

एएसपी ठाकुर चंद्रशील कुमार ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी आशीष कुमार शर्मा हाल वरिष्ठ सहायक, अतिरिक्त जिला कलेक्टर एवं परियोजना अधिकारी, सहरिया विकास शाहाबाद है। इसके अलावा दूसरा आरोपी अजय गर्ग हाल वरिष्ठ अध्यापक हाल अधीक्षक सहरिया आश्रम छात्रावास, आगर जिला बारां और तीसरा आरोपी अशोक कुमार शर्मा हाल तृतीय श्रेणी अध्यापक हाल अधीक्षक एकलव्य मॉडल रेजीडेंसिशल स्कूल छात्रावास हनोतिया, शाहबाद जिला बारां है।

लॉकडाउन की वजह से नहीं हो सकाथा ट्रेप, 17 फरवरी को दर्ज करवाई थी शिकायत

एएसपी ठाकुर चंद्रशील ने बताया किइस संबंध में मोहम्मद इदरीश मंसूरी ने एसीबी में 17 फरवरी को शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि वह एकलव्य मॉडल रेजीडेंसियल स्कूल, हनोतिया में कार्यवाहक प्रधानाचार्य है। जबकि उनकी पत्नी मोबिना बेगमसहरिया बालिका आश्रम छात्रावास शाहबाद में वार्डन है। उसके अक्टूबर 2019 से जनवरी 2020 तक के बिल पास नहीं किए गए तथा परिवादी के स्कूल में संचालित छात्रावास के बिल भी पास नहीं किए गए।

एडीएम शाहबाद और सहायक कोषाधिकारी के लिए भी मांगी गई रिश्वत, होगी पूछताछ

शिकायतकर्ता इदरीस ने बताया कि एडीएम महेंद्र सिंह लोढ़ा ने उनके करीब 1.80 लाख रुपए के बिलों को निरस्त कर दिया था। ऐसे में इन बिलों को पास करवाने की एवज में एडीएम ऑफिस में पदस्थापित वरिष्ठ लिपिक आशीष कुमार शर्मा व अजय गर्ग ने अपने और एडीएम महेंद्र सिंह लोढ़ा के लिए रिश्तव की मांग की। इस शिकायत का सत्यापन 2 मार्च 2020 को करवाया गया। इसके अलावा मोहम्मद इदरीस की पत्नी के स्कूल के बिलों को पास करने की एवज में भी आशीष कुमार शर्मा, अजय कुमार गर्ग ने अपने लिए, एडीएम महेंद्र सिंह लोढ़ा के लिए और ट्रेजरी शाहबाद के एटीओ के लिए कुल 25 हजार रुपयों की मांग की।

लॉकडाउन की वजह से नहीं ले सके थे रिश्तव की बकाया रकम

एसीबी के सत्यापन में यह सामने आया कि रिश्वत की यह रकम आशीष कुमार शर्मा ने आरोपी अशोक कुमार शर्मा के मार्फत 12 हजार रुपए पहले प्राप्त कर ली गई थी। इसके बाद लॉकडाउन की वजह से रिश्वत की दूसरी किश्त 13 हजार रुपए नहीं ली जा सकी थी। हाल ही में लॉकडाउन में राहत मिलने पर फिर से रिश्वत की बकाया रकम की मांग शुरु कर दी गई। ऐसे में एसीबी के पुलिस इंस्पेक्टरदलबीर फौजदार के नेतृत्व में ट्रेप रचा गया और आज मंगलवार को तीनों आरोपियों को एकलव्य मॉडल रेजीडेंसियल, हनोतिया में 13 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


बारां जिले में रिश्वत लेते पकड़े गए शाहबाद एडीएम कार्यालय के वरिष्ठ सहायक व दो टीचर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here