पाक में बारिश इसलिए टिड्डियां नहीं भर पा रही उड़ान, राजस्थान में राहत

0
20

तीन दिनों से पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, बाड़मेर, जैसलमेर, फलाैदी, जोधपुर समेत कई इलाकों से टिड्डियां अचानक गायब हो गई हैं या कृषि विभाग ने उनको मार दिया है। कृषि विभाग के पास आए इनपुट के मुताबिक पाकिस्तान में बारिश हो चुकी है इससे टिड्डियाें के पंख गीले हो गए हैं। हवा का साथ भी उनको नहीं मिल पा रहा इसलिए वे उड़ान नहीं भर पा रही लेकिन जैसे ही मौसम शुष्क होगा वैसे ही टिड्डियों की आवक भारत में फिर होने की आशंका है।फिलहाल राहत तात्कालिक है किसानों ने राहत इसलिए ली क्योंकि बीते 4 दिनों से कहीं भी टिड्डियां नहीं देखी गई इसलिए उनकी फसलें अभी बची हुई हैं। हालांकि कृषि विभाग टिड्डी मारने के लिए पूरे इंतजाम कर चुका है। एक ड्रोन भी दिल्ली से बीकानेर आ चुका है।कृषि विभाग के सहायक निदेशक रामकिशोर मेहरा ने बताया कि अगर पाकिस्तान से टिड्डियां नहीं आती है तो यहां कोई भी खतरा नहीं है लेकिन हमारी नजर वहां से आने वाली टिड्डियों पर भी है। हम पूरे इंतजाम के साथ उन को मारने के लिए तैयार हैं।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

तीन दिनों से पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, बाड़मेर, जैसलमेर, फलाैदी, जोधपुर समेत कई इलाकों से टिड्डियां अचानक गायब हो गई हैं या कृषि विभाग ने उनको मार दिया है। कृषि विभाग के पास आए इनपुट के मुताबिक पाकिस्तान में बारिश हो चुकी है इससे टिड्डियाें के पंख गीले हो गए हैं। हवा का साथ भी उनको नहीं मिल पा रहा इसलिए वे उड़ान नहीं भर पा रही लेकिन जैसे ही मौसम शुष्क होगा वैसे ही टिड्डियों की आवक भारत में फिर होने की आशंका है।

फिलहाल राहत तात्कालिक है किसानों ने राहत इसलिए ली क्योंकि बीते 4 दिनों से कहीं भी टिड्डियां नहीं देखी गई इसलिए उनकी फसलें अभी बची हुई हैं। हालांकि कृषि विभाग टिड्डी मारने के लिए पूरे इंतजाम कर चुका है। एक ड्रोन भी दिल्ली से बीकानेर आ चुका है।

कृषि विभाग के सहायक निदेशक रामकिशोर मेहरा ने बताया कि अगर पाकिस्तान से टिड्डियां नहीं आती है तो यहां कोई भी खतरा नहीं है लेकिन हमारी नजर वहां से आने वाली टिड्डियों पर भी है। हम पूरे इंतजाम के साथ उन को मारने के लिए तैयार हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here